Amritpal Singh: अभी भी फरार अमृतपाल, 8 राज्यों में अलर्ट जारी

वारिस पंजाब दे प्रमुख और कट्टर खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार है। पंजाब पुलिस लगातार उसके खिलाफ अभियान चला रही है। उसके खिलाफ सर्कुलर भी जारी कर दिया गया है। अभियान के तहत पंजाब पुलिस को कई सफलताएं भी मिली हैं। पंजाब पुलिस ने अमृतपाल के कई सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। इन सबके बीच अमृतपाल सिंह के गैंगमैन तेजिंदर सिंह उर्फ गोरखा बाबा को भी आज गिरफ्तार किया है। गुरखा बाबा हमेशा अमृतपाल सिंह की सुरक्षा में तैनात रहता था। तेजिंदर के दो करीबियों को भी हिरासत में लिया जा चुका है और उनसे पूछताछ की जा रही है। तेजिंदर पहले भी जेल में जा चुका है।

अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार करने के लिए पंजाब पुलिस ने अपना अभियान तेज कर दिया है। देश के 8 राज्यों में इस को लेकर अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। पंजाब पुलिस इन राज्यों की पुलिस से लगातार संपर्क साधे हुए हैं। इन राज्यों की पुलिस से मदद भी ली जा रही है। जिन राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है उनमें पंजाब के अलावा राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर शामिल है। इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है। अमृतपाल सिंह विदेश ना भाग जाए, इसके लिए पाकिस्तान और नेपाल से सटे बॉर्डर पर बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स और सीमा सुरक्षा बल अलर्ट पर रखे गए हैं। अमृतपाल सिंह को लेकर गृह मंत्रालय पंजाब पुलिस के संपर्क में है।

इन सब के बीच पंजाब सरकार ने बृहस्पतिवार को तरन तारन और फिरोजपुर जिलों में मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस (संदेश) सेवाओं पर रोक को शुक्रवार दोपहर तक के लिए बढ़ा दिया, जबकि अमृतसर में मोगा, संगरूर, अजनाला उप-संभाग और मोहाली के कुछ इलाकों में पाबंदियां हटा दी गईं। पंजाब के अन्य हिस्सों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं 21 मार्च को बहाल कर दी गई थीं। गृह विभाग तथा न्याय विभाग की ओर से सोमवार को जारी किए गए आदेशानुसार, तरन तारन और फिरोजपुर में ‘‘जन सुरक्षा, हिंसा के किसी भी उकसावे को रोकने और शांति व जन व्यवस्था भंग बनाए रखने के लिए’’ मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक की अवधि बढ़ा दी गयी है।