मिसाइल वैज्ञानिकों के साथ बैठक में अपनी बेटी को साथ लेकर पहुंचे किम जोंग उन

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन मिसाइल वैज्ञानिकों के साथ बैठक में अपनी बेटी को साथ लेकर पहुंचे। उनकी बेटी सार्वजनिक रूप से दूसरी बार सामने आई है। सरकारी मीडिया ने किम की बेटी को उनकी ‘‘सबसे प्रिय’’ संतान करार दिया तथा इस बहस को और तेज कर दिया कि क्या उसे किम की उत्तराधिकारी के रूप में पेश किया जा रहा है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह किम की दूसरी संतान जु ऐ है और उसकी आयु नौ से 10 साल के बीच है। इससे पहले वह पिछले सप्ताह सार्वजनिक रूप से नजर आई थी।

सरकारी मीडिया द्वारा जारी तस्वीरों में वह अपने माता-पिता और अन्य अधिकारियों के साथ अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) के परीक्षण का अवलोकन करती दिखाई दी थी। उस समय सफेद कोट और लाल जूते पहने जु ऐ अपने पिता किम के हाथ में हाथ डालकर चलती दिखाई दी थी, जबकि उसके पीछे एक प्रक्षेपण वाहन पर लदी एक विशाल मिसाइल दिख रही थी। उत्तर कोरियाई सरकारी मीडिया ने रविवार को बताया कि जु ऐ और किम ने ह्वासोंग-17 आईसीबीएम के प्रक्षेपण में शामिल वैज्ञानिकों, तकनीशियनों, अधिकारियों और अन्य कर्मियों के साथ तस्वीर खिंचवाई।

केसीएनए ने उसे किम की ‘‘सबसे प्रिय’’ संतान बताया। इसने कई तस्वीरें भी जारी कीं, जिनमें किम की बेटी लंबा एवं काले फर वाला काला कोट पहने अपने पिता की बांह पकड़े दिखाई देती है। ‘कार्नेगी एंडोवमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस’ में विशेषज्ञ अंकित पांडा ने कहा, ‘‘यह निश्चित रूप से ध्यान देने वाली बात है।’’ उन्होंने कहा कि आईसीबीएम के परीक्षण में शामिल तकनीशियनों और वैज्ञानिकों के साथ मुलाकात के दौरान अपने पिता के साथ किम जु ऐ की तस्वीर इस विचार का समर्थन करती है कि उसे पिता की संभावित उत्तराधिकारी के रूप में पेश किया जा रहा है।

ऐसा बताया जा रहा है कि किम के दो और बच्चे हैं। इस प्रकार की अटकलें लगाई जा रही हैं कि उनकी सबसे बड़ी संतान बेटा है तथा उनकी एक और बेटी है। ऐसे में कुछ विशेषज्ञों ने यह सवाल उठाया है कि उत्तर कोरिया के एक पुरुष प्रधान समाज होने के मद्देनजर किम अपनी बेटी को अपनी उत्तराधिकारी के रूप में पेश क्यों कर रहे हैं।