लाल किले से नेहरू ने देश को किया है सबसे ज्यादा बार संबोधित, जानें किस प्रधानमंत्री ने अब तक कितनी बार दी है स्पीच

पूरा देश आजादी का 75 वां वर्षगांठ मना रहा है। आजादी मिले हमें 75 साल पूरे हो रहे हैं। इस उपलक्ष में देश में हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया जा रहा है। इन सबके बीच लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता दिवस पर देश को एक बार फिर से संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह नौवां संबोधन होगा। 2014 से लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले से देश को संबोधित करते रहे हैं। ऐसे में सवाल यह है कि सबसे ज्यादा पर किस प्रधानमंत्री ने लाल किले के प्राचीर से देश को संबोधित किया है? आज हम आपको लाल किले से संबोधन के कुछ दिलचस्प पहलुओं को बताने जा रहे हैं।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को सबसे ज्यादा बार संबोधित करने का गौरव पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को प्राप्त हुआ है। उन्होंने देश को कुल 17 बार संबोधित किया है। इसके बाद इंदिरा गांधी को सबसे ज्यादा बार देश को संबोधित करने का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने 15 अगस्त को 16 बार भाषण दिए हैं। तीसरे नंबर पर मनमोहन सिंह का नाम आता है जिन्होंने 10 बार लाल किले के प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश के लोगों को संबोधित किया है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस बार यह नौवां संबोधन होगा। इसके साथ ही नरेंद्र मोदी देश ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं जिन्हें सबसे ज्यादा बार लाल किले के प्राचीर से संबोधित करने का मौका मिला है।

नरेंद्र मोदी ने अब तक लाल किले के प्राचीर से 8 बार ध्वजारोहण किया है। किसी भी गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री द्वारा यह सबसे ज्यादा बार किया गया है। 15 अगस्त 2022 को यह नौवां दफा हो जाएगा। मोदी से पहले यह रिकॉर्ड अटल बिहारी वाजपेयी के नाम था जिन्होंने 6 बार लाल किले पर तिरंगा फहराया था।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री के भाषण को पूरा देश सुनता है। 1947 में पंडित नेहरू ने 72 मिनट का भाषण दिया था। वहीं, 2016 में नरेंद्र मोदी का भाषण 94 मिनट का था। यह किसी भी प्रधानमंत्री के द्वारा दिया गया सबसे लंबा भाषण है। मनमोहन सिंह के भाषणों की बात करें तो उनकी अवधि 32 मिनट से लेकर 45 मिनट के ही बीच रही है। उनकी तुलना में मोदी का भाषण लंबा रहता है।