रुश्दी पर हमला अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार

लंदन (वाशिंगटन। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत ब्रिटेन के कई नेताओं एवं लेखकों ने बुकर पुरस्कार विजेता लेखकर सलमान रुश्दी पर पर हुए ‘भयावह’ हमले को लेकर सोशल मीडिया मंचों पर स्तब्धता प्रकट की और इसे अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार करार दिया। जॉनसन ने ट्वीट किया, ‘इस बात से स्तब्ध हूं कि सर सलमान रुश्दी पर तब चाकू से वार किया गया जब वह अपने उस अधिकार का इस्तेमाल कर रहे थे जिसका बचाव करना हमें कभी नहीं छोड़ना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘फिलहाल हमारी संवेदनाएं उनके प्रियजनों के प्रति है। हम सभी आशा कर रहे हैं कि वह ठीक हो जाएं।’ पूर्व चांसलर और जॉनसन के उत्तराधिकारी की दौड़ में शामिल ऋषि सुनक ने ट्वीट किया, ‘‘न्यूयार्क में सलमान रुश्दी पर हमले की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। स्वतंत्र अभिव्यक्ति और कलात्मक आजादी के पैरोकार हैं (वह)। आज रात उन्हें लेकर चिंता रहेगी।’
कंजरवेटिव पार्टी के नेतृत्व के लिए दौड़ में शामिल विदेश मंत्री लिज ट्रूस ने कहा, ‘सर सलमान रुश्दी पर ¨नदनीय हमला। ऐसा होना चाहिए कि लोग स्वतंत्र रूप से अपनी बात रख सकें तथा अभिव्यक्ति की आजादी की रक्षा की जानी चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘मेरी संवेदनाएं उनके, उनके परिवार एवं प्रियजनों के प्रति है।’ गृहमंत्री प्रीति पटेल ने रुश्दी पर हमले पर स्तब्धता प्रकट करते हुए ट्वीट किया, ‘अभिव्यक्ति की आजादी एक ऐसा आदर्श है जो हमें प्यारा है और उसको कमतर करने के किसी भी प्रयास को सहन नहीं किया जाना चाहिए। सलमान एवं उनके परिवार के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं।’ मशहूर अंग्रेजी उपन्यासकार इयान मैकइवान ने काह, ‘मेरे प्रिय दोस्त पर यह भयावह हमला चिंतन एवं अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला है।’ यूरोप के अन्य देशों में ही ऐसी ही प्रतिक्रिया व्यक्त की गयी है। फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुअल मैंक्रो ने ट्वीट किया, ‘सालों से सलमान रुश्दी आजादी तथा प्रगतिविरोध के विरूद्ध संघर्ष के प्रतीक रहे हैं.. उनकी लड़ाई हमारी लड़ाई है।’
रुश्दी पर हमला ’भयावह‘ : अमेरिकी एनएसए सुलिवन : अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेम्स सुलिवन ने कहा है कि मशहूर लेखक सलमान रुश्दी पर जानलेवा हमले की कोशिश ‘भयावह’ एवं ‘¨नदनीय’ है। बुकर पुरस्कार से सम्मानित रुश्दी (75) शुक्रवार को पश्चिमी न्यूयार्क के चौटाउक्वा संस्थान में एक कार्यक्रम के दौरान अपना व्याख्यान शुरू करने वाले ही थे कि तभी एक व्यक्ति मंच पर चढ़ा और रुश्दी को घूंसे मारे और चाकू से उन पर हमला कर दिया। रुश्दी की गर्दन पर चोट आई है। उस समय कार्यक्रम में उनका परिचय दिया जा रहा था। खून से लथपथ रुश्दी को उत्तर पश्चिमी पेन्सिल्वेनिया के एक अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी सर्जरी हुई। लेखक पर हमले के कुछ घंटे बाद सुलिवन ने कहा, आज, देश और दुनिया ने मशहूर लेखकर सलमान रुश्दी पर ¨नदनीय हमला देखा। यह ¨हसक कृत्य ¨नदनीय है। उन्होंने कहा, बाइडन-हैरिस प्रशासन में हम सभी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे हैं। हमले के बाद रुश्दी की सबसे मदद करने पहुंचे नेकनीयत नागरिकों तथा त्वरित एवं प्रभावी कार्रवाई करने वाली कानून प्रवर्तन एजेंसियों के प्रति हम आभारी हैं।