प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अग्निपथ योजना लागू करने की हठ छोड़ें : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि वह अग्निपथ योजना लागू करने की अपनी हठ छोड़कर देश के युवाओं की मांग पर ध्यान दें और इस योजना को तत्काल वापस लेकर हजारों युवाओं के सेना में भर्ती होने के सपने को पूरा करें।
कांग्रेस प्रवक्ता मोहन प्रकाश ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने देश भर में सोमवार को 3,500 से अधिक विधानसभा क्षेत्रों अग्निपथ योजना के खिलाफ सत्याग्रह किया जिसमें बड़ी संख्या में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। उनका कहना था कि सरकार को अग्निपथ के तहत चार साल की नौकरी के बजाए पहले की तरह सशस्त्र बलों में युवाओं को शामिल कर देश की सीमाओं तथा युवा पीढ़ी के भविष्य को सुरक्षा प्रदान करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने 20 जून को अग्निपथ योजना के खिलाफ सत्याग्रह शुरू किया था और फिर राष्ट्रपति राम नाथ को¨वद को इस संबंध में एक ज्ञापन भी दिया। ज्ञापन में अग्निपथ योजना को वापस लेने का महामहिम से अनुरोध किया गया है। राष्ट्रपति से आग्रह किया गया है कि यह योजना लागू होती है तो राष्ट्रीय सुरक्षा कमजोर होगी इसलिए इसे वापस लिया जाना चाहिए।
राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया : कांग्रेस ने ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ सोमवार को पूरे देश में विधानसभा क्षेत्र के स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया और इसे वापस लेने की मांग की। मुख्य विपक्षी दल ने ‘सत्याग्रह फॉर यूथ’ हैशटैग से सोशल मीडिया अभियान भी चलाया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री अपने ‘मित्रों’ को 50 साल के लिए देश के एयरपोर्ट देकर ‘दौलतवीर’ और युवाओं को सिफऱ् 4 साल के ठेके पर ‘अग्निवीर’ बना रहे हैं। आज देश भर में कांग्रेस पार्टी ‘अग्निपथ’ के खिलाफ सत्याग्रह कर रही है।