राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष की तरफ से यशवंत सिन्हा ने नामांकन दाखिल

नयी दिल्ली। राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष की तरफ से संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने सोमवार को नामांकन दाखिल किया। इस मौके पर मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, द्रमुक नेता ए राजा, नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला और कई अन्य विपक्षी नेता मौजूद रहे।

यशवंत सिन्हा ने 18 जुलाई को होने जा रहे राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन के चार सेट राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी को सौंपे। आपको बता दें कि यशवंत सिन्हा का सीधा मुकाबला एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के साथ होने वाला है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विपक्ष की तरफ से संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा कि ये बहुत महत्वपूर्ण है कि राष्ट्रपति भवन में वैसा ही व्यक्ति जाए जो इन ज़िम्मेदारियों को निभा सके। अगर कोई ऐसा व्यक्ति जाता है जो सरकार के कब्जे में है। उसकी हिम्मत ही नहीं होगी कि वो सलाह भी दे। फिर इस पद का कोई फायदा नहीं बचेगा।

तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस ने यशवंत सिन्हा का समर्थन करने का ऐलान किया है। यशवंत सिन्हा के नामांकन दाखिल करते समय भी टीआरएस के नेता टी रामाराव पार्टी सांसदों के साथ वहां पर मौजूद रहे। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के बेटे रामा राव ने ट्वीट किया था कि टीआरएस के अध्यक्ष श्री केसीआर गारू ने भारत के राष्ट्रपति पद के चुनाव में यशवंत सिन्हा की उम्मीदवारी का समर्थन करने का फैसला किया है। उन्होंने लिखा कि मैं आज नामांकन में अपनी पार्टी के सांसदों के साथ टीआरएस का प्रतिनिधित्व करूंगा।