140 करोड़ भारतीयों में से एक भी मोदी के व्यक्तित्व की बराबरी नहीं कर सकता : रामदेव

नई दिल्ली। योग गुरु स्वामी रामदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम कर सराहना की और कहा, ‘इस समय मुझे 140 करोड़ भारतीयों में से एक भी व्यक्ति नजर नहीं आता जो मोदी के हिमालय जैसे व्यक्तित्व की बराबरी कर सके और इस देश को चला सके। उनके सामने बाकी सब बौने दिखते हैं।’ स्वामी रामदेव ने कहा, ‘मैं यह नहीं कहता कि अतीत में कोई महान व्यक्तित्व नहीं हुआ। मैं यह भी नहीं कहता कि मोदी के बाद इस देश को संभालने के लिए कोई व्यक्ति नहीं है। यह भगवान का विधान है। देश अपने प्रवाह से आगे बढ़ेगा, लेकिन इस समय मुझे ऐसा कोई नहीं दिखता जो मोदी के व्यक्तित्व की बराबरी कर सके।’

मोदी सरकार के 8 साल पूरे होने के अवसर पर योगगुरु ने प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए कहा, ‘हमें फख्र है कि हम उस कालखंड में हैं जब मोदी जैसा एक यशस्वी, तेजस्वी, पराक्रमी वीर देश का प्रधानमंत्री है, जो शौर्य के साथ खड़ा रहता है। मैं पूरी दुनिया में घूमा हूं। सारी दुनिया के लोग कहते हैं इससे पहले कोई प्रधानमंत्री आता था, तो कब आया और कब चला गया, कोई चर्चा नहीं होती थी। आज मोदी जी आते हैं तो पूरी दुनिया में चर्चे होते हैं।’

रामदेव ने कहा, ‘मोदी ने भारत को वैश्विक गौरव दिया। जमीन स्तर पर उन्होंने हमारी सड़कों, बंदरगाहों से लेकर एयरपोर्ट्स तक को बदल दिया है। उन्होंने हमारे किसानों और गरीबों के लिए तमाम योजनाएं शुरू की हैं। पिछले 75 सालों में वह हमारे पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने योग और आयुर्वेद को लोकप्रिय बनाया। मोदीजी खुद रोज़ योग करते हैं और 18 घंटे कर्मयोग करते हैं। वह नई शिक्षा नीति लेकर आए।’

उन्होंने कहा, ‘मोदी राष्ट्र की एक ऋषि आत्मा जैसे हैं। एक दिन मैंने ट्वीट में उनको ‘देवतुल्य’ कह दिया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर मुझे कई लोगों ने ट्रोल किया। लोग अपनी ऐसी-तैसी कराएं, मोदी अच्छा काम कर रहे हैं। मैंने कहा, क्या तुम्हारे खेत में आकर मोदी हल भी चलाएंगे? क्या मोदी तुम्हारी दुकान भी चलाएंगे? खुद तो कुछ काम करो। देश के प्रधानमंत्री का काम होता है अच्छी नीतियां बनाना, अच्छा नेतृत्व देना, अच्छी नीयत से काम करना।’

विपक्ष के आरोपों पर कि पीएम ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चुप्पी साधे हुए थे, स्वामी रामदेव ने कहा: ‘जो प्रधानमंत्री होता है उसको पता होता है कि देश कैसे चलाया जाता है। कोरोना में देश की पूरी अर्थव्यवस्था हिल गई, पूरी दुनिया के बड़े-बड़े देश हिल गए। माना कि हमारे यहां चुनौतियां हैं, मैं आंख बंद करके नहीं बैठा। मैं मोदी के घनघोर विरोधियों से एक प्रश्न करता हूं कि मुझे मोदी से ज्यादा काबिल एक व्यक्ति का नाम बता दें, हम आज उसको साष्टांग कर लेंगे।’