आईएएस पूजा सिंघल से ई डी के दफ्तर में पूछताछ जारी

प्रवर्तन निदेशालय के रांची स्थित जोनल कार्यालय में पूजा सिंघल को नोटिस देकर बुलाया गया है। झारखंड की खान सचिव आईएएस पूजा सिंघल से ई डी के दफ्तर में पूछताछ जारी है। पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा के सीए सुमन कुमार को आज फिर ईडी के दफ्तर में लाया गया है।

इस बीच जानकारी मिल रही है कि पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा द्वारा स्थापित पल्स हॉस्पिटल की जमीन से संबंधित जांच की रिपोर्ट गायब है। ईडी के द्वारा मांगे जाने पर रांची डिस्टिक एडमिनिस्ट्रेशन जांच रिपोर्ट की तलाश कर रही है। दरअसल पल्स हॉस्पिटल की जमीन को लेकर 2019-20 में सवाल उठाए गए थे। कहा गया था कि जिस जमीन पर पल्स हॉस्पिटल बना है वह वही भुईहरी की जमीन है। जिसका मतलब होता है कि जमीन की दाखिल खारिज नहीं हो सकती। इसे देखते हुए फरवरी 2020 में सीएम के आदेश पर पल्स हॉस्पिटल की जमीन की जांच कराई गई थी। राँची के तत्कालीन डीसी महीपत राय ने अंचलाधिकारी और एडिशनल कलेक्टर से उस जमीन की जांच कराई थी। 15 दिनों में रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया था। लेकिन यह रिपोर्ट फिलहाल नहीं मिल रही है। माना जा रहा है कि उस रिपोर्ट में कुछ ऐसा संदिग्ध है जिससे बड़ा खुलासा हो सकता है।

बताया जा रहा है कि पल्स हॉस्पिटल को बनाने में 100 करोड़ से ऊपर की राशि लगाई गई है। लेकिन, इस हॉस्पिटल के निर्माण के लिए 25 करोड़ का लोन लिया गया है। ईडी यह जानकारी लेने में जुटी है शेष रुपए कहां से लाए गए। इसके लिए कहीं पूजा सिंघल के पावर का उपयोग तो नहीं किया गया। शुरू से ही यह माना जा रहा है अभिषेक ने सेल कंपनियों के माध्यम से मनी लांड्रिंग में पूजा सिंघल के प्रभाव का इस्तेमाल किया। ईडी उन तमाम कड़ियों को जोड़ रही है।

सीए सुमन कुमार सिंह को फिर से लाए जाने पर माना जा रहा है कि इन तीनों से अलग-अलग मिली जानकारी को एक साथ बैठाकर टेली कराया जा सकता है।

कुल मिलाकर आईएएस पूजा सिंघल पर ईडी का शिकंजा कसता जा रहा है और पूजा से जुड़े तमाम लोगों की मुश्किल है बढ़ती जा रही हैं। इस बीच पूजा सिंघल 31 मई तक छुट्टी पर चली गई हैं। उन्होंने कार्मिक विभाग को इसका आवेदन दिया है।