50 रुपए बढ़े रसोई गैस के दाम, खाना पकाना हुआ और महंगा

नई दिल्ली। खाना पकाने में इस्तेमाल होने वाले एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम में शनिवार को 50 रुपए की बढ़ोतरी कर दी गई। इस तरह, रसोई गैस सिलेंडर के दाम रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं।
सार्वजनिक क्षेत्र की ईंधन वितरक कंपनियों ने एलपीजी सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी की अधिसूचना जारी की। एलपीजी सिलेंडर के दाम में यह वृद्धि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गैस कीमतों में जारी तेजी के बीच की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में एलपीजी का 14.2 किलोग्राम वाला सिलेंडर 999.50 रुपए का हो गया है। यह रसोई गैस सिलेंडर के दाम का रिकॉर्ड स्तर है।
छह सप्ताह के भीतर एलपीजी सिलेंडर के दाम में की गई यह दूसरी वृद्धि है। इसके पहले 22 मार्च को भी ईंधन कंपनियों ने दाम में 50 रुपए की वृद्धि की थी। मई की शुरुआत में सरकार ने वाणिज्यिक इस्तेमाल वाले गैस सिलेंडर के दाम में भी 102.50 रुपए की बड़ी बढ़ोतरी की थी। इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में 19 किलोग्राम वाले वाणिज्यिक गैस सिलेंडर की कीमत 2355.50 रुपए हो चुकी है।
2014 के स्तर पर लाई जाए कीमत : कांग्रेस- कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को घरेलू रसोई गैस की कीमत में की गई बढ़ोतरी वापस लेनी चाहिए और सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर के दाम को साल 2014 के समय रही कीमत के बराबर लाना चाहिए।
मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 50 रुपए की बढ़ोतरी की खबर आने के बाद यह दावा भी किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले आठ वर्षों में सब्सिडी वाली रसोई गैस के दाम में 585 रुपए की बढ़ोतरी की है और सब्सिडी भी खत्म कर दी है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, भाजपा मालामाल, जनता बेहाल। भाजपा राज में सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर का दाम ढ़ाई गुना अधिक हो चुका है। रसोई गैस अब मध्यम वर्ग और गरीब वर्ग की पहुंच से बाहर हो चुकी है। उनके मुताबिक मई 2014 में सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 414 रुपए थी, जो आज 999.50 रुपए हो चुकी है, यानी इसमें 585 रुपए से अधिक की वृद्धि हुई है। सुरजेवाला ने सरकार से आग्रह किया, सब्सिडी वाली रसोई गैस की कीमत को 2014 के स्तर पर लाया जाए।