…भोजपुरी इंडस्ट्री का बन रहा मजाक : रवि किशन

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में विवादों का दौर चल रहा है। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के दो सुपरस्टार आमने-सामने हैं। एक ओर पवन सिंह हैं तो दूसरी और खेसारी लाल यादव। खेसारी लाल यादव और पवन सिंह के बीच का विवाद अब खुलकर सामने भी आ चुका है। दोनों स्टारों की इस लड़ाई को ठाकुर बनाम यादव की लड़ाई बता दिया गया है। खेसारी लाल यादव ने सोशल मीडिया के जरिए कई बड़े आरोप लगाए हैं। वहीं दूसरी ओर पवन सिंह की ओर से भी बिना नाम लिए उन पर पलटवार किया जा रहा है। दोनों की लड़ाई को लेकर अब भोजपुरी के सुपरस्टार और भाजपा सांसद रवि किशन का भी रिएक्शन सामने आ गया है।

टीवी चैनल आज तक से बात करते हुए रवि किशन ने कहा कि इन दोनों सुपरस्टार की लड़ाई भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री एक बड़ी इंडस्ट्री बन चुकी है। मैंने खुद 400 से ज्यादा फिल्में की हैं। भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार माने जाने वाले रवि किशन ने आगे कहा कि अब जो भी बात सामने आ रहा है यह बेहद दुखद है। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री से लगभग 1 लाख लोगों का रोजगार चलता है। ऐसे में दोनों का विवाद जारी रहता है तो इंडस्ट्री की बर्बादी का कारण भी बन सकता है। कहीं ऐसा ना हो कि हम सभी को पछताना पड़े। इसके साथ ही जिस तरीके से जाति को लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं उस पर भी रवि किशन ने अपना बयान दिया है। रवि किशन ने कहा कि कलाकार की कोई जाति नहीं होती है।

भाजपा सांसद ने कहा कि दोनों कलाकारों को एकता बनाए रखने के लिए चुप हो जाना चाहिए। दोनों को भी मैं यही संदेश देना चाहूंगा कि इस लड़ाई का कोई अंत अच्छा नहीं है। हमें छोटी-छोटी बातों से ऊपर उठना होगा और तमिल और तेलुगू इंडस्ट्री की तरह आगे बढ़ना होगा। हम सभी को इन सब बातों को भूलकर भोजपुरी इंडस्ट्री को आगे ले जाने की कोशिश करनी चाहिए। इसके साथ ही रवि किशन ने भोजपुरी में अपने दोनों जूनियर कलाकारों से अपील करते हुए कहा कि वे चुप रहे। उनहोंने कहा कि सरकार से भी अपील करता हूं कि भोजपुरी में सेंसर बोर्ड आ जाए। यूपी सरकार इस पर पहल कर रही है। दोनों अभिनेताओं की जो लड़ाई हो रही है उसका लोग बाहर मजाक उड़ा रहे हैं।