बुलडोजर का देश में तांडव चल रहा, लाखों मुसलमान डरे हुए हैं महबूबा मुफ्ती बोलीं,

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी चीफ महबूबा मुफअती ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह केवल बातें करते हैं और देश के मुसलमानों और कश्मीर के युवाओं के लिए कुछ नहीं कर रहे। मुफ्ती ने कहा कि जब मुसलमानों की रोजी रोटी पर बुलडोजर चलाया जाता है तो वह कुछ नहीं करते। जम्मू-कश्मीर के युवाओं की भूमि और रोजगार बाहरियों को दिया जा रहा है।

श्रीनगर में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘हम सेक्युलर देश में रहते हैं और यहां सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समाज मुसलमानों का है। उन्हें तोड़ा जा रहा है। उनके घरों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। रोजी रोटी छीनी जा रही है। प्रधानमंत्री इस मामले में कुछ नहीं कर रहे।’

उन्होंने आगे कहा, ‘देश में बुलडोजर का तांडव चल रहा है और लाखों मुसलमान डरे हुए हैं। इसी परिस्थिति में भी प्रधानमंत्री मोदी यहां आते हैं और युवाओं के बारे में बात करते हैं। क्या वह उन युवाओं की बात कर रहे हैं जिनपर यूएपीए का केस चलाया गया है। वह किस भविष्य की बात कर रहे हैं। उन्होंने युवाओं का भविष्य बर्बाद कर दिया।’

बता दें कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी रविवार को पहली बार जम्मू-कश्मीर के दौरे पर पहुंचे थे। उन्होंने कहा था कि कश्मीर के युवा अब अपने बाप-दादा की तरह परेशान नहीं होंगे बल्कि उनके विकास का इंतजाम किया जाएगा। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लिए 20 हजार करोड़ के डिवेलपमेंट प्रोजेक्ट का शिलान्यास और उद्घाटन भी किया था।

मुफ्ती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर अब मुस्लिम बहुल राज्य बन रहा है। यह सेक्युलर राष्ट्र में इसलिए शामिल हुआ है ताकि हिंदू मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी मिल जुलकर रह सकें। हालांकि आज ऐसा देखने को नहीं मिलता है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी की नजरों के सामने जहांगीरपुरी में बुलडोजर का तांडव चल रहा है। मुस्लिमों के रोजगार खत्म किए जा रहे हैं और प्रधानमंत्री कुछ नहीं कर रहे। ऐसी स्थिति में हम सरकार से क्या उम्मीद कर सकते हैं?