यूपी में बिना अनुमति नहीं निकाल पाएंगे धार्मिक जुलूस या शोभायात्रा : योगी

हाल में ही देखें तो रामनवमी और हनुमान जयंती के अवसर पर देश के विभिन्न इलाकों में निकाली गई शोभायात्रा के दौरान हिंसा की खबरें आई हैं। इसको लेकर खूब राजनीति भी हो रही है। इन सबके बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है ।योगी सरकार के फैसले के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अब बिना अनुमति के कोई भी शोभायात्रा या धार्मिक जुलूस नहीं निकाली जाएगी। इसको लेकर सरकार की ओर से एक आदेश भी जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही शोभा यात्रा निकालने से पहले आयोजकों से शांति सौहार्द कायम रखने के लिए शपथ पत्र भी मांगा जाएगा।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक कोई शोभायात्रा/धार्मिक जुलूस बिना विधिवत अनुमति के न निकाली जाए। अनुमति से पूर्व आयोजक से शांति-सौहार्द कायम रखने के संबंध में शपथ पत्र लिया जाए। अनुमति केवल उन्हीं धार्मिक जुलूसों को दिया जाए, जो पारंपरिक हों, नए आयोजनों को अनावश्यक अनुमति न दी जाए। हाल में हुई हिंसा के मद्देनजर योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में धार्मिक आयोजनों को लेकर अत्यधिक सतर्कता बरतने को भी कहा है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी साफ कर दिया है कि सड़क पर कोई भी धार्मिक आयोजन नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में कई महत्वपूर्ण धार्मिक पर्व-त्योहार हैं। रमजान का महीना चल रहा है और ईद का त्योहार और अक्षय तृतीया एक ही दिन होना संभावित है। ऐसे में वर्तमान परिवेश को देखते हुए पुलिस को अतिरिक्त संवेदनशील रहना होगा।
वहीं माइक की आवाज परिषद तक ही सीमित रहे। फिलहाल 4 मई तक पुलिस प्रशासन के अफसरों की छुट्टी रद्द कर दी गई है। योगी ने अफसरों से कहा है कि वे सुनिश्चित करें कि धार्मिक कार्यक्रम पूजा-पाठ तय स्थान पर ही हो। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने आने वाले त्योहारों के मद्देनजर सोमवार को शासन और प्रशासन के अधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय करते हुए पुलिस को अतिरिक्त तौर पर संवेदनशील रहने की हिदायत दी और दो टूक कहा कि माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के साथ पूरी कठोरता की जाए, ऐसे लोगों के लिए सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं होना चाहिए। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रमजान, ईद और अक्षय तृतीय जैसे त्योहारों को लेकर सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए।