कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से NCR में अलर्ट, CM योगी ने टीम-9 के अधिकारियों को जारी किए दिशा-निर्देश

उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे राज्यों में बीते कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। एनसीआर के जिलों में भी इसका असर देखने को मिला है। गौतमबुद्ध नगर जिला में संक्रमण के 43 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 98,832 हो गयी है। इसके साथ ही गाजियाबाद में भी 11 संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। बढ़ते मामलों के मद्देनजर पूरे एनसीआर को अलर्ट मोड पर रखा गया है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-9 के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सीएम योगी ने कहा है कि गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में कोविड संक्रमित पाए गए मरीजों के जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जाए। इन जिलों के डीएम, सीएमओ से संवाद कर स्थिति की गहन समीक्षा की जाए।

12 से 14 साल और 15 से 17 साल के बच्चों के टीकाकरण की प्रगति को सीएम ने संतोषप्रद बताया है। साथ ही इसे और तेज करने के निर्देश दिए हैं। 18 साल से अधिक की आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने का काम में तेजी लाए जाने की बात कही गई है। 700 निजी टीकाकरण केंद्र पर बूस्टर डोज लगवाया जा सकता है। इन टीकाकरण केंद्रों और बूस्टर डोज के महत्व के बारे में आमजन को जागरुक किया जाए। सीएम ने कहा है कि हर दिशा में यह सुनिश्चित किया जाए कि एक भी नागरिक टीके से छूट ना जाए। गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में कोविड पॉजिटिव पाए गए मरीजों के सैम्पल लेकर जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जाए। इन जिलों के डीएम, सीएमओ से बात करके स्थिति की समीक्षा की जाए।

गौरतलब है कि बीते 24 घंटे के अंदर ही उत्तर प्रदेश में कोरोना के नए मामलों की संख्या सीदे दोगुनी हो गई है। प्रदेश में 77 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि ठीक एक दिन पहले मंगलवार को संक्रमितों की संख्या 35 थी। नोएडा से सबसे अधिक 40 केस सामने आए हैं। नोएडा के स्कूली बच्चों में तेजी से संक्रमण का फैलाव हो रहा है। बुधवार को भी 9 बच्चे वायरस की चपेट में आ गए हैं।