भतीजे अखिलेश से नाराजगी के बीच CM योगी से उनके आवास पर की मुलाकात

लखनऊ । चाचा शिवपाल और भतीजे सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बीच रिश्ते फिर बिगड़ते नजर आ रहे हैं। सपा विधायकों की बैठक में शिवपाल को नहीं बुलाने और गठबंधन की बैठक में बुलाने के बाद भी नहीं आने से चाचा-भतीजे के बीच रार सार्वजनिक हो चुका है।

इसी बीच बुधवार को शिवपाल यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की है। शिवपाल की मुलाकातों ने कई अटकलों को जन्म दे दिया है। सबसे ज्यादा चर्चा मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव की तरह उनके ही रास्ते को चुनने को लेकर हो रही है। कहा जा रहा है कि शिवपाल यादव भी भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं।

शिवपाल यादव बुधवार को लखनऊ पहुंचे और विधानसभा में विधायक की शपथ ली। इसके बाद शिवपाल सीएम योगी के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात की। करीब 20 मिनट तक शिवपाल की योगी आदित्यनाथ की मुलाकात हुई। मुलाकात के बाद शिवपाल ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया। शिवपाल के मुलाकात के तुरंत बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी सीएम योगी से मिलने पहुंचे।

शपथ लेने के बाद भी शिवपाल से भाजपा में जाने को लेकर सवाल किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि फिलाहाल सदन के सदस्य के रूप में शपथ ले ली है। इससे ज्यादा कुछ नहीं कहना है। शिवपाल की नाराजगी उस दिन ही सार्वजनिक हो गई थी जिस दिन सपा विधायकों की बैठक बुलाई गई थी। सपा की तरफ से विधायकों की बैठक में शिवपाल को न्योता नहीं दिया गया था।

समाजवादी पार्टी (सपा) के चुनाव चिन्ह साइकिल पर चुनाव लड़ कर विधानसभा पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने को लेकर अटकलों का बाजार कुछ दिनों से गर्म है।

शिवपाल की राज्यसभा के रास्ते भाजपा में इंट्री पर अटकलें 26 मार्च के बाद से लगातार चल रही है। हालांकि इसका खंडन शिवपाल और उनके समर्थकों की ओर से अब तक नहीं किया गया है। बताया जा रहा है कि इटावा में शिवपाल ने अपने समर्थकों से मौजूदा हालात को देखते हुये उपने विचार जाने और पूछा कि उन्हें क्या करना चाहिए। समर्थकों ने शिवपाल से साफ साफ कह दिया है कि उनका हर निर्णय में समर्थक साथ होंगे।