पुतिन की चेतावनी से पश्चिमी देशों ने पीछे खींचे कदम

यूक्रेन पर रूस के आक्रमण को 11 दिन हो गए हैं। यूक्रेन में बमबारी जारी है। आलम ये है कि न रूस हमले रोक रहा है और न ही यूक्रेन हार मान रहा है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि यूक्रेन में सबकुछ प्लान के अनुसार चल रहा है। पुतिन ने दूसरे देशों को आगाह करते हुए कहा कि जो भी देश यूक्रेन को नो फ्लाई कर रहे हैं, वो इस संघर्। का हिस्सा माने जाएंगे। रूस इस कदम को इस तरह देखेगा कि इन देशों ने संघर्ष क्षेत्र में कदम रखा है। पुतिन के इस बयान को काफी अहम माना जा रहा है।

इसके साथ ही जेलेंस्की ने वीडियो जारी कर नाटो के कदम की आलोचना की है। जेलेंस्की ने यूक्रेन को नो फ्लाई जोन घोषित करने की मांग की थी जिसे नाटो ने खारिज कर दिया था। जेलेंस्की ने कहा कि नाटो यूक्रेन में होने वाली मौतों और विनाश के लिए जिम्मेदार होगा। नाटो ने कहा था कि वो इस संघर्ष का हिस्सा नहीं है और अगर ऐसा कदम वो उठाता है तो युद्ध यूरोप के दूसरे हिस्सों तक भी फैल जाएगा जो वो नहीं चाहता।

इसे भी पढ़ें: Russia-Ukraine War: पुतिन ने कहा- रूस में नहीं है मार्शल लॉ लगाने की जरूरत, यूक्रेन समर्थक देशों को दी ये चेतावनी
यूक्रेन में रूसी हमलों से गैस का संकट पैदा हो गया है। वहीं रूसी सेना की तरफ से खारकीव को भी निशाना बनाया गया है। कई इमारतों में आग भी लगी है। इसके साथ ही रूस की तरफ से किए गए 6 विस्फोटों की वजह से यूक्रेन के गैस ट्रांसमिशन सिस्टम के 16 गैस सप्लाई स्टेशनों को बंद कर दिया गया है।