रांची : मॉर्निंग वॉक पर निकली किशोरी को अगवाकर गैंगरेप, 1010 रुपये के पेट्रोल ने पकड़वाया

रांची । रांची पुलिस ने चान्हो में मार्निंग वॉक पर निकली नाबालिग लड़की को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म के मामले के तीन आरोपियों को दबोच लिया है। गिरफ्तार आरोपी नगड़ी निवासी सोहन कुमार, चान्हो के कुद्दुस अंसारी और इरशाद अंसारी शामिल है। आरोपियों के पास से पुलिस ने घटना में इस्तेमाल किए गए चाकू, कार व मोबाइल आदि भी पुलिस ने जब्त किया है।

पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि पीड़िता ने पुलिस को अपराधियों द्वारा रिंग रोड के एक पेट्रोल पंप से 1010 रुपए का तेल भरवाने की बात बतायी थी। इसके बाद गठित एसआईटी ने मामले की जांच शुरू की। पुलिस पीड़िता को लेकर उस पेट्रोल पंप में गई। पुलिस ने उसका रजिस्ट्रर खंगाला, तब पुलिस को अपराधियों का सुराग हाथ लगा। पेट्रोल पंप से पुलिस ने अपराधियों के कार का नंबर लिया।

उसी आधार पर पुलिस ने गाड़ी मालिक आरोपी कुद्दूस अंसारी को दबोची। कड़ाई से पूछताछ में उसने अपने साथियों के नाम का खुलासा किया। उसकी निशानदेही पर पुलिस बाकी दोनो अपराधी सोहन व इरशाद को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में तीनो अपराधियों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार किया है। एसएसपी ने कहा है कि आरोपियों को हर हाल में सजा दिलायी जाएगी।

पीड़िता छात्रा ने पुलिस को बताया कि अपने दो दोस्तों के साथ वह बीते रविवार को मार्निंगवॉक करने के लिए निकली थी। सोंस में जब वह अपनी दोस्तों के साथ मार्निंग वॉक कर रही थी, तभी एक कार उनके पास रूकी। कार को देखकर उनकी दोनो दोस्त भाग गई। कार सवार एक अपराधी चाकू के बल पर उसे अगवा कर लिया। इसके बाद अपराधियों ने छात्रा का हाथ को रस्सी से बांध दिया।

शोर नहीं मचाए, इसलिए टुपट्टे से उसका मुंह बंद कर दिया। चाकू दिखाकर अपराधियों ने छात्रा से कहा कि शोर मचाया तो जान से मार देंगे। कुछ दूर जाने के बाद चालक ने कहा कि उसकी गाड़ी में तेल कम है। इसलिए तेल लेना जरूरी है। इसके बाद अपराधी कार लेकर सीधे रिंग रोड पहुंचे। सौम्य पेट्रोल पंप में अपराधियों ने 1010 रुपए का कार में तेल भरवाया। उस वक्त छात्रा को कंबल से ढक दिया था ताकि कोई देखे तो यह लगे कि छात्रा बीमार है।

इसके बाद छात्रा को लेकर चान्हो-मांडर बॉर्डर मार्ग में गया। जहां चलती गाड़ी में तीनो ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इस मार्ग में एक स्थान पर अपराधियों ने गाड़ी रोकी थी। इस दौरान एक अपराधी का मोबाइल गिर गया। कुछ दूर जाने के बाद उस अपराधी को पता चला कि उसका मोबाइल गिर गया। फिर वापस मोबाइल खोजने के लिए लौटे। एक सुनसान स्थान पर जब वे तीनो मोबाइल गाड़ी सेु तर कर खोज रहे थे, उसी का फायदा उठाकर छात्रा वहां से भाग निकली। सीधे चान्हो थाना पहुंची और मामले की जानकारी दी।

एक तरफा प्यार करता था, अगवा करने से पहले पांच दिन की रेकी
अपराधी सोहन कुमार नाबालिग लड़की से प्यार करता था। लेकिन इस बात की जानकारी उसने नाबालिग को नहीं दिया। नाबालिग लड़की रिंग रोड में मार्निंग वाक करती थी। वह हर दिन उसे देखने के लिए जाया करता था। उसने अपने दोस्तों से नाबालिग के बारे में बताया। तब दोस्तों ने उससे कहा कि उसे अगवा कर लेते हैं।

घटना से पहले पांच दिन सोहन अपने दोस्तों के साथ मिलकर नाबालिग की रेकी की। इस दौरान हर जानकारी ली। शनिवार को भी आरोपी सोहन ने छात्रा का सोंस बाजार में पीछा भी किया था। लेकिन छात्रा सामान खरीदकर घर निकल गई। रविवार की सुबह तीनो ने मिलकर हथियार के बल पर नाबालिग को अगवा कर लिया।

12 घंटे में अपराधियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि चान्हो थाना क्षेत्र के सोंस से कार सवार अपराधियों ने एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म किया है। इसकी जानकारी मिलने के बाद खलारी डीएसपी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया। पीड़िता को यह भी जानकारी नहीं थी कि अपराधी कौन हैं।

एसआईटी ने सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल लोकेशन के आधार पर 12 घंटे के भीतर अपराधियों को दबोच लिया। पूछताछ में अपराधियों ने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार किया है। पुलिस ने नाबालिग लड़की के कपड़े को जब्त कर ली है। अब उसे एफएसएल को भेजेगी। उसके कपड़े में लगे प्रार्दश से डीएनए का मिलान हो सके।

फास्ट टैक कोर्ट से दिलाया जाएगा सजा
एसएसपी ने कहा कि आरोपियों किसी भी हाल में जेल से बाहर निकलने नहीं दिया जाएगा। इसके लिए गठित एसआईटी की टीम अपराधियों के खिलाफ सबूत इक्ट्टा करने में जुट गई है। सबूत को कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा, ताकि अपराधियों को सजा दिलायी जा सके। अपराधी कुद्दूस अंसारी के खिलाफ चान्हो और अनगड़ा थाने में कई मामले दर्ज हैं। चोरी व मारपीट के मामले में वह दो बार जेल भी जा चुका है।