पीवी सिंधु और लक्ष्य सेन इंडिया ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचे

नयी दिल्ली। दो बार की ओलंपिक पदक विजेता भारत की पीवी सिंधू और विश्व चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन शुक्रवार को यहां योनेक्स-सनराइज इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में जीत के साथ अंतिम चार में पहुंचने में सफल रहे। शीर्ष वरीय पूर्व विश्व चैंपियन सिंधू ने 36 मिनट तक चले मुकाबले में 21 वर्षीय हमवतन अश्मिता चालिहा को 21-7 21-18 से हराया। तीसरी वरीयता प्राप्त लक्ष्य ने एच एस प्रणॉय को मुश्किल मुकाबले में 14-21 21-9 21-14 से हराकर पुरुष एकल के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। हैदराबाद की 26 साल की खिलाड़ी सिंधू को फाइनल में पहुंचने के लिए छठी वरीयता प्राप्त थाईलैंड की सुपनिदा कटेथोंग के साथ अंतिम चार में भिड़ना होगा।

तीसरी वरीयता प्राप्त सिंगापुर की येओ जिया मिन के ‘तेज बुखार’ के कारण टूर्नामेंट से हटने के बाद केटथोंग ने सेमीफाइनल में जगह बनायी। लक्ष्य अंतिम चार मुकाबले में मलेशिया के नग तेज योंग से भिडेंगे। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की दूसरी वरीयता प्राप्त पुरुष युगल जोड़ी ने भी सिंगापुर के ही योंग काई टेरी तथा लोह कीन हेन पर 21-18, 21-18 से जीत के साथ सेमीफाइनल में प्रवेश किया। महिला युगल के क्वार्टर फाइनल में रुद्राणी जायसवाल एवं जमालुदीन अनीस कौसर को 21-16, 21-16 से हराकर हरिता मनाझियिल हरिनारायण और आशना रॉय की जोड़ी ने अंतिम चार में जगह बनाई। पुरुष एकल के क्वार्टर फाइनल में लक्ष्य और प्रणॉय के बीच करीबी मुकाबला हुआ। प्रणॉय पहला गेम जीतने में सफल रहे लेकिन युवा खिलाड़ी लक्ष्य ने दूसरे गेम को अपने नाम कर मुकाबला बराबर कर दिया। निर्णायक गेम में प्रणॉय ने 6-1 की बढ़त के साथ अच्छी शुरुआत की लेकिन सेन ने वापसी करते हुए स्कोर 11-9 कर दिया। उन्होंने ब्रेक के बाद अगले 11 में से नौ अंक अपने नाम कर मैच जीत लिया। सिंधू पिछली बार 2019 में 83वीं योनेक्स-सनराइज सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में चालिहा के खिलाफ खेली थी। उस समय असम की युवा खिलाड़ी ने दमदार प्रदर्शन किया था। चालिहा ने शुक्रवार को लय हासिल करने में काफी समय लिया। उन्होंने हालांकि दूसरे गेम में कड़ी टक्कर दी लेकिन यह सिंधू को रोकने के लिए काफी नहीं था।

सिंधू ने शुरुआती गेम में सभी अपने अनुभव का इस्तेमाल करते हुए 11-5 की बढ़त हासिल कर ली। मैच के आगे बढ़ने के साथ दोनों खिलाड़ियों के बीच अंकों का फासला बढ़ता गया। चालिहा ने दूसरे गेम में खुद को बेहतर साबित करते हुए 9-9 की बराबरी की। इसके बाद सिंधु ने 15-11 से बढ़त बनाई, लेकिन चालिहा ने फिर से वापसी करते हुए स्कोर को 15-15 कर दिया। सिंधू इसके बाद अपने खेल में आक्रामकता बढ़ाते हुए चार अंक हासिल कर जीत के करीब पहुंच गयी। महिला एकल के दूसरे सेमीफाइनल में आकर्षी कश्यप का सामना दूसरी वरीयता प्राप्त थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान से होगा। भारतीय खिलाड़ी ने शुक्रवार को क्वार्टर फाइनल में हमवतन मालविका बंसोद पर 21-12, 21-15 से जीत दर्ज की। बुसानन ने अंतिम आठ में अमेरिका की लॉरेन लैम को 21-12, 21-8 से शिकस्त दी। ईशान भटनागर एवं साई प्रतीक के की पुरुष युगल जोड़ी को मलेशिया की तीसरी वरीयता प्राप्त ओंग यू सिन एवं तेओ ई यी के खिलाफ महज 19 मिनट में 7-21, 7-21 से हार का सामना करना पड़ा। मिश्रित युगल में आठवीं वरीयता प्राप्त वेंकट गौरव प्रसाद एवं जूही देवांगन की भारतीय जोड़ी चेन टैंग जी एवं पेक येन वेई की मलेशियाई जोड़ी से महज 23 मिनट में 10-21, 13-21 से हार गई। नितिन एचवी एवं अश्विनी भट्ट के की एक अन्य भारतीय जोड़ी सिंगापुर के ही योंग काई टेरी एवं टैन वेई हान से 15-21, 19-21 से हार गई।