पुतिन बोले- पैगंबर मोहम्मद का अपमान करना अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इन दिनों सुर्खियों में हैं। पैगंबर मोहम्मद को लेकर उन्होंने एक बयान दिया है जिसके बाद पाकिस्तान में खुशी की लहर है। व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि पैगंबर मोहम्मद के अपमान को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कहीं से भी नहीं माना जा सकता है। उन्होंने कहा कि पैगंबर का अपमान धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन और इस्लाम को मानने वाले लोगों की पवित्र भावनाओं के खिलाफ है। रूस की समाचार एजेंसी TASS के मुताबिक अपने संवाददाता सम्मेलन में रूसी राष्ट्रपति ने कलात्मक आजादी पर जोर देते हुए कहा कि धार्मिक आजादी का भी ध्यान रखा जाए।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के इस बयान के बाद से पाकिस्तान में खुशी की लहर है। खुद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भी खुश हैं। इसको लेकर इमरान खान ने एक ट्वीट भी किया। अपने ट्वीट में इमरान खान ने लिखा कि मैं राष्ट्रपति पुतिन के उस बयान का स्वागत करता हूं जो मेरे संदेश की पुष्टि करता है। हमारे पवित्र पैगंबर पीबीयुएच का अपमान करना अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है। हम मुसलमानों और खासकर मुस्लिम नेताओं को इस संदेश को गैर मुस्लिम देशों के नेताओं तक पहुंचाना चाहिए ताकि इस्लामोफोबिया से मुकाबला किया जा सके।
इसे भी पढ़ें: जिनपिंग के साथ मिलकर हाईटेक हथियार बना रहा रूस, ओलंपिक बहिष्कार पर बोले पुतिन- चीन के विकास को कोई नहीं रोक सकता
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी पुतिन के इस बयान का स्वागत किया है। पाकिस्तान में भी कई दिग्गजों ने पुतिन के इस बयान का समर्थन किया है। पुतिन ने अपने बयान में यह भी कहा कि पैगंबर का अपमान इस्लाम को मानने वाले लोगों की भावनाओं को आहत करने जैसा है। इसके साथ ही पुतिन ने रूस के लोगों को अन्य देशों की तुलना में ज्यादा सहिष्णु भी बताया।