न साम्यवाद और न समाजवाद, इस देश को केवल राम राज्‍य चाहिए: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बृहस्पतिवार को विपक्षी दलों खासतौर पर से समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि इस देश को न साम्यवाद चाहिए और न समाजवाद चाहिए, इस देश को केवल राम राज्‍य चाहिए। उत्‍तर प्रदेश में निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सत्रहवीं विधानसभा के अंतिम सत्र को संबोधित करते हुए आदित्‍यनाथ ने कहा कि आज के युग का जो सबसे बड़ा अंधविश्वास है, वह समाजवाद है और इसके कई बहुरुपिया ब्रांड हैं। उन्होंने कहा कि परिवारवादी समाजवाद, माफिया वादी समाजवाद, अराजकतावादी समाजवाद, दंगा वादी समाजवाद, आतंकवादी समाजवाद, — ये सभी जो बहुरुपिये ब्रांड हैं, प्रदेश की जनता भी इस चीज को मानने लग गई है कि समाजवाद एक रेड अलर्ट है और इस रेड अलर्ट से अब मुक्ति मिलनी ही चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, हम लोगों ने पहले ही कहा कि इस देश को न साम्यवाद चाहिए, इस देश को न समाजवाद चाहिए, इस देश को केवल राम राज्‍य चाहिए और उत्‍तर प्रदेश को राम राज्य ही चाहिए। राम राज्य का मतलब जो सार्वकालिक है, सार्वदेशिक है और सार्वभौमिक है और काल परिस्थिति से प्रभावित शाश्वत है, वही राम राज्‍य है। नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी की ओर इशारा करते हुए योगी ने कहा, नेता प्रतिपक्ष समाजवादी थे लेकिन परिवारवादियों के चक्कर में पड़ गये और उसके कारण आपकी छवि धूमिल हो गई। उन्होंने कहा कि लोहिया ने कहा था कि जो सरकार इस देश के अंदर, इस देश के गरीबों के लिए शौचालय का निर्माण कर देगी और जो सरकार उनके घर में चूल्हा जलाने का कार्य करेगी, उस सरकार को आने वाले 25 वर्ष तक दुनिया की कोई ताकत हटा नहीं पाएगी।

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि लोहिया ने साठ साल पहले यह सपना देखा और इस सपने को मोदी ने साकार किया और आज हर गरीब के पास शौचालय, रसोई गैस कनेक्शन, राशन कार्ड, आयुष्मान कार्ड और बिजली का निशुल्क कनेक्शन है। उन्होंने समाजवादी पार्टी पर माफिया को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने खनिज माफिया को संरक्षण दिया लेकिन हमारी सरकार ने उन माफियाओं को जेल भिजवाया। दावा किया कि बुंदेलखंड अब पानी के लिए तरसेगा नहीं, नौजवानों को पलायन नहीं करना पड़ेगा क्योंकि वहां रोजगार का आधार एक्सप्रेस वे बन गया है। योगी ने कहा कि बुंदेलखंड विकास की एक नई आभा के साथ आगे बढ़ रहा है, पूर्वी उप्र का विकास हो रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे खुल चुका है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता ‘‘छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता’’ उद्धृत करते हुए योगी ने कहा कि आदमी न ऊंचा होता है, न नीचा होता है, न बड़ा होता है, न छोटा होता है, आदमी सिर्फ आदमी होता है, हमने हमेशा इसी ध्‍येय वाक्‍य को माना है। उन्होंने कहा कि लोहिया ने कहा था कि सच्चा समाजवादी संपत्ति और संतति से दूर रहेगा। संपत्ति और सं‍तति से समाजवादी को दूर होना चाहिए। चंद्रशेखर जी ने अपने रहते कभी अपने पुत्रों को राजनीति में आने नहीं दिया। राजनीति में उन्होंने कुछ मानक गढ़े थे और आज चंद्रशेखर जी के पुत्र हमारे साथ हैं। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि समाजवादी सरकार में सैफई महोत्सव के लिए इंग्लैंड से बग्घी मंगाई जाती थी लेकिन आज मोदी जी गरीब को हवाई जहाज की यात्रा का प्रबंध करते तो इनको बुरा लगता है।

उन्‍होंने पूर्ववर्ती सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने सत्‍ता और राजनीति का अपराधीकरण, माफ‍ियाकरण नहीं किया होता, सत्‍ता को वंशवाद और परिवारवाद के आगे गिरवी नहीं रखा होता तो यही उप्र नंबर एक की अर्थव्‍यस्‍था बनने का हकदार था। उन्होंने दावा किया कि कई क्षेत्रों में सरकार के सामूहिक प्रयास के कारण हमें सफलता मिली, खाद्यान्‍न उत्‍पादन, गेहूं तिलहन, मटर, दूध, आम उत्पादन में आज उत्‍तर प्रदेश नंबर एक पर है और देश के अंदर तमाम योजनाओं में उप्र का पहला स्थान है। अपने दो घंटे से अधिक समय के उद्बोधन में योगी ने कोरोना काल में सरकार की उपलब्धियों से लेकर पौने पांच वर्ष के अपने शासन में चलाई गई योजनाओं का भी सिलसिलेवार ब्यौरा दिया। उन्होंने एक प्रसंग में अटल की कविता हिंदू तन-मन, हिंदू जीवन, रग-रग हिंदू मेरा परिचय भी सुनाई। योगी ने चौधरी को भाजपा में शामिल होने के लिए न्‍यौता दिया और कहा कि अगर वह चाहें तो भाजपा में उनके लिए रास्ता खुल सकता है। इस बीच नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने प्रतिवाद करते हुए कहा कि भाजपा ने एक ही चीज में महारत हासिल की है वह झूठ, झूठ, झूठ। चौधरी ने दावा किया कि जब तक जिऊंगा तब तक समाजवादी पार्टी में अखिलेश यादव के साथ रहूंगा।