असम उपचुनाव के नतीजों पर बोले CM हिमंत बिस्वा सरमा, लोगों ने पीएम मोदी के नेतृत्व में जताया भरोसा

कुर्मी मरियानी सीट से छठी बार जीते हैं और उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी लोहित कुंवर को 41,104 वोटों के अंतर से शिकस्त दी है जबकि तालुकदार ने भबानीपुर सीट से दूसरी बार चुनाव जीता है और कांग्रेस के शैलेंद्र दास को 25,641 वोटों से पराजित किया है।

उपचुनाव में मिली जीत के बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा गदगद हैं। जीत के बाद उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि असम में हमारी 5 सीटों पर जीत कोई साधारण जीत नहीं है क्योंकि हर सीट पर हम आम चुनावों से अधिक अंतर से जीते हैं। हमने सभी 5 सीटों पर भारी अंतर से जीत हासिल की। ये जीत पीएम मोदी के नेतृत्व में राज्य में विकास की जीत है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अब एक राष्ट्रीय पार्टी है। यह अब 5-6 राज्यों तक सीमित नहीं है। यह किसी भी राज्य से चुनाव जीतने में सक्षम है।

आपको बता दें कि असम के पांच विधानसभा क्षेत्रों में हुए उपचुनाव में सभी सीटों पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अगुवाई वाले गठबंधन ने जीत हासिल की है। भाजपा तीन सीटों पर विजय रही तो दो विधानसभा सीटें उसकी सहयोगी यूनाइटेड पीपल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के खाते में गईं। भाजपा के फणीधर तालुकदार ने भबानीपुर सीट से, रूपज्योति कुर्मी ने मरियानी सीट से और सुशांत बरगोहाइ ने थोवरा सीट से जीत दर्ज की। इन तीनों ने इस साल के शुरू में हुए चुनाव में अलग अलग पार्टियों के टिकट पर इन सीटों पर जीत दर्ज की थी लेकिन चुनाव के बाद तीनों ने अपनी-अपनी पार्टियों से इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थाम लिया था।
कुर्मी मरियानी सीट से छठी बार जीते हैं और उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी लोहित कुंवर को 41,104 वोटों के अंतर से शिकस्त दी है जबकि तालुकदार ने भबानीपुर सीट से दूसरी बार चुनाव जीता है और कांग्रेस के शैलेंद्र दास को 25,641 वोटों से पराजित किया है। बरगोहाइ ने रायजोर दल के धज्य कुंवर को 30,561 मतों के अंतर से हराकर थोवरा सीट जीत ली है। कुंवर ने निर्दलीय के तौर पर यह चुनाव लड़ा था।