पहले चलती थी भ्रष्टाचार की साइकिल

सिद्धार्थनगर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को सिद्धार्थनगर से नौ मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण करने के बाद उत्तर प्रदेश की पिछली सरकारों पर पूर्वाचल को बीमारियों से जूझने के लिए छोड़ देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर ‘भ्रष्टाचार की साइकिल’ 24 घंटे चलती रहती थी।
मोदी ने मुख्य विपक्षी दल सपा पर कटाक्ष करते हुए किसी का नाम लिए बगैर कहा, दूसरी तरफ गरीबों के करोड़ों रुपए लूटने वाली भ्रष्टाचार की साइकिल 24 घंटे अलग से चलती रहती थी। दवाई में भ्रष्टाचार, एंबुलेंस में भ्रष्टाचार, नियुक्ति में भ्रष्टाचार, ट्रांसफर पो¨स्टग में भ्रष्टाचार। इस पूरे खेल में यूपी में कुछ परिवार वादियों का तो खूब भला हुआ। भ्रष्टाचार की साइकिल तो खूब चली लेकिन उसमें सामान्य परिवार पिसता चला गया। सही ही कहा जाता है कि जाके पांव न फटी बिवाई, वह क्या जाने पीर पराई। पूर्वाचल अब पूर्वी भारत का मेडिकल हब बनेगा।
उन्होंने कहा कि सात साल पहले दिल्ली में और चार साल पहले उत्तर प्रदेश में जो सरकार थी, उसके लोग पूर्वांचल में छोटे-छोटे अस्पतालों की घोषणा करके बैठ जाते थे। लोग उम्मीद लगाए रहते थे लेकिन सालों साल तक तो इमारत ही नहीं बनती थी। अगर वह बन जाती थी तो मशीनें नहीं होती थीं। यह दोनों होते थे तो डॉक्टर और स्टाफ नहीं होता था। हमारी प्राथमिकता गरीब का पैसा बचाना है।