विश्व के कई हिस्सों में फेसबुक, व्हाट्सऐप, इंस्टाग्राम की सेवाएं हुई ठप्प, लोगों को हो रही परेशानी

उपयोगकर्ताओं ने कैलिफोर्निया, न्यूयॉर्क और यूरोप में फेसबुक का उपयोग नहीं कर पाने की सूचना दी। भारत में भी बहुत से उपयोगकर्ता इन तीन डिजिटल मंचों पर समस्या का सामना कर रहे हैं।
सैन फ्रांसिस्को। विश्व के विभिन्न हिस्सों में सोमवार को फेसबुक,इंस्टाग्राम और व्हाट्सऐप ने काम करना बंद कर दिया। कंपनी ने कहा कि उसे इसकी जानकारी है कि ‘‘कुछ लोगों को फेसबुक ऐप इस्तेमाल करने में दिक्कत हो रही है और वह इसकी सेवा बहाल करने का प्रयास कर रही है। कंपनी ने यह नहीं बताया कि इस दिक्कत के लिए कारण क्या हो सकता है, जो भारतीय समयानुसार रात करीब सवा नौ बजे के आसपास शुरू हुई। वेबसाइटों और ऐप में दिक्कत होना सामान्य है, हालांकि वैश्विक स्तर पर ऐसा होना दुर्लभ है। उपयोगकर्ताओं ने कैलिफोर्निया, न्यूयॉर्क और यूरोप में फेसबुक का उपयोग नहीं कर पाने की सूचना दी। भारत में भी बहुत से उपयोगकर्ता इन तीन डिजिटल मंचों पर समस्या का सामना कर रहे हैं।

फेसबुक एक बड़े संकट से गुजर रहा है, क्योंकि कंपनी के उत्पादों और निर्णयों के नकारात्मक प्रभावों के बारे में आंतरिक शोध को लेकर कंपनी की जागरूकता को उजागर करने वाले ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’के लेखों की श्रृंखला की एक सूत्र एवं व्हिसलब्लोअर (भंडाफोड़ करने वाला व्यक्ति) रविवार को ‘‘60 मिनट’’ पर सार्वजनिक हो गई। फ्रांसेस हौगेन की पहचान रविवार को 60 मिनट्स साक्षात्कार में उस महिला के रूप में की गई, जिसने गुमनाम रूप से संघीय कानून प्रवर्तन के समक्ष शिकायत दर्ज की थी कि कंपनी के खुद के शोध से पता चलता है कि यह नफरत और गलत सूचनाओं को कैसे बढ़ाती है, जिससे ध्रुवीकरण बढ़ता है और इंस्टाग्राम, विशेष रूप से किशोरियों के मानसिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।’’

‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’के लेखों को द फेसबुक फाइल्स’’ के तौर पर जाना जाता है। इसने कंपनी की एक ऐसी तस्वीर पेश की है, जो जनता की भलाई के बजाय विकास और अपने स्वयं के हितों पर केंद्रित है। फेसबुक ने शोध को अधिक तवज्जो नहीं देने की कोशिश की। कंपनी के नीति एवं सार्वजनिक मामलों के उपाध्यक्ष निक क्लेग ने शुक्रवार को एक ज्ञापन में फेसबुक कर्मचारियों को लिखा कि ‘‘हाल के वर्षों में सोशल मीडिया का समाज पर बड़ा प्रभाव पड़ा है और फेसबुक अक्सर एक ऐसा मंच होता है जहां इस बहस का अधिकांश हिस्सा सामने आता है।