ब्रिटेन के सांसद ने कश्मीर पर कहा, सैनिकों की वापसी पर इस्लामी ताकतें खत्म कर देंगी लोकतंत्र

बॉब ब्लैकमैन ने ब्रिटेन के सांसद डेबी अब्राहम और पाकिस्तान मूल की सांसद यासमीन कुरैशी द्वारा पेश हाउस ऑफ कॉमर्स में कश्मीर में मानवाधिकार की स्थिति पर हो रही बहस का जवाब दे रहे थे।
जब से अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा हुआ है उसके बाद से कई देश इस पर चिंता जता चुके हैं। भारत की लगातार अपनी सुरक्षा खासकर कश्मीर को लेकर लगातार चिंता जता रहा है। अफगानिस्तान की हर घटना पर भारत पैनी नजर रखे हुए हैं और इस मामले को विश्व स्तर पर उठा रहा है। इन सबके बीच ब्रिटेन के सांसद बॉब ब्लैकमैन ने बड़ा बयान दिया है। बॉब ब्लैकमैन ने हाउस ऑफ कॉमंस में कहा कि इस्लामी ताकतें कश्मीर में लोकतंत्र को खत्म कर देगी जैसा कि हमने अफगानिस्तान में देखा।
दरअसल, बॉब ब्लैकमैन ने ब्रिटेन के सांसद डेबी अब्राहम और पाकिस्तान मूल की सांसद यासमीन कुरैशी द्वारा पेश हाउस ऑफ कॉमर्स में कश्मीर में मानवाधिकार की स्थिति पर हो रही बहस का जवाब दे रहे थे। बहस के जवाब में बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि जरा सोचिए, अफगानिस्तान में अभी क्या हुआ है। जिस तरह से वहां सैनिकों को वापस लिया गया उसके बाद वहां सुरक्षा की स्थिति नहीं थी। अगर सुरक्षा नहीं होगी जम्मू और कश्मीर की दुर्दशा अफगानिस्तान के समान होगी, जिसमें इस्लामी ताकतें आ रही हैं और इस क्षेत्र में लोकतंत्र को खत्म करने की कोशिश कर रही हैं।

सांसद ने साफ तौर पर कहा कि अगर भारतीय सैनिकों को वापस किया जाता है तो इस्लामिक ताकतें जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र को खत्म कर देंगी जैसा कि हमने अफगानिस्तान में देखा। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि भारतीय सेना ही जम्मू कश्मीर को तालिबान का अफगानिस्तान बनने से रोक सकती है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना और भारतीय सैन्य वहां की लोकतंत्र की मजबूत नींव है जिसने जम्मू कश्मीर को तालिबान बनने से रोक रखा है। उन्होंने कहा कि वह लोग ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि यह क्षेत्र कानूनी रूप से भारत गणराज्य का एक अभिन्न हिस्सा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *