पोस्टमार्टम : दम घुटने से हुई महंत नरेंद्र गिरि की मौत

प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत दम घुटने से हुई थी। इसका खुलासा पोस्टमार्टम में हुआ है।
पूरी रिपोर्ट लगभग दो दिन में आने की संभावना है। विस्तृत रिपोर्ट आने के बाद मामला और स्पष्ट हो सकेगा। महंत के पोस्टमार्टम के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस तैनात रही, जिससे कि कोई अव्यवस्था न होने पाए। महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर का बुधवार सुबह पांच डाक्टरों के पैनल ने एसआरएन अस्पताल में करीब दो घंटे में पोस्टमार्टम किया। बताया गया कि पैनल में दो डाक्टर मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज से, दो जिला अस्पताल से और सीएमओ की ओर से एक डाक्टर शामिल रहे। पूरी टीम का सुपरविजन खुद सीएमओ ने किया। पोस्टमार्टम के बाद रिपोर्ट को सील कर दिया गया।
महंत को दी गई भू समाधि : महंत नरेंद्र गिरि को बुधवार दोपहर तीन बजे उनके मठ में पूर्ण विधि विधान से भू समाधि दी गई। इसके बाद निरंजनी अखाड़ा के आचार्य महामंडलेर कैलाशानंद जी ने बताया, आज महंत नरेंद्र गिरि को भू समाधि दी गई। सन्यास परंपरा के तहत मैंने उनके कान में दीक्षा दी। अंतिम समय में पारस मंत्र उनको दी गई। आनंद अखाड़े के हमारे आचार्य बालकानंद गिरि जी महाराज सहित अन्य साधु संतों ने महंत नरेंद्र गिरि को भू समाधि दी।