केमिकल वाला गुड़ तो आप नहीं खा रहे हैं, इस सिम्‍पल हैक्‍स से मालूम करें

गुड़ को चीनी का एक स्वस्थ विकल्प माना जाता है, अक्सर भारतीय घरों में मीठे व्‍यंजनों में गुड़ का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। लेकिन बाजार में गुड़ की इतनी सारी किस्में उपलब्ध है और मुनाफे के चक्कर में कई जगह नकली गुड़ बनाकर बेचा जाता है, कोई कैसे सबसे अच्छा गुड़ चुन सकता है – जो बिना मिलावट और रासायनिक मुक्त हो?
इंस्टाग्राम पर शेफ पंकज भदौरिया ने बताया है कि कैसे एक आसान हैक्‍स से आप असली और नकली गुड़ (Jaggery) की पहचान कर सकते हैं। इन टिप्स की मदद से आप केमिकल वाले गुड़ की आसानी से पहचान कर सकते हैं। गुड़ को निखरा हुआ रुप देने के ल‍िए इसमें ज्यादा सोडा का इस्तेमाल किया जाता है। सोडा मिला गुड़ ज्यादा सफेद होता है। ऐसे ही केमिकलयुक्‍त गुड़ दिखने में तो आपको बहुत अच्छा लगेगा, लेकिन क्वालिटी में ये अच्छा नहीं होता।

असली गुड़ डार्क ब्राउन या काला दिखता है। पीले और सफेद रंग का गुड़ केमिकल युक्‍त होता है। गुड़ का रंग जितना गहरा होगा, ये उतना ही शुद्ध होगा इसलिए गुड़ खरीदते वक्त इसके रंग से जरुर परखें।

गुड़ में कैल्शियम कार्बोनेट और सोडियम बाइकार्बोनेट की मिलावट होती है। कैल्शियम बाइकार्बोनेट से गुड़ काफी पॉल‍िश लुक में दिखता है, इसके साथ ही ये वजन में भी भारी हो जाता है। मिलावट वाला ये गुड़ सेहत को काफी नुकसान पहुंचाता है।

इसके साथ ही केमिकलयुक्‍त गुड़ स्वाद में कड़वा और नमकीन लगता है। इसकी मिठास बढ़ाने के लिए इसमें शुगर क्रिस्टल मिलाया जाता है। इसके साथ ही असली गुड़ की पहचान करने के लिए इसे आप पानी में घोले। अगर यह पानी में नीचे बैठ जाता है तो यह नकली गुड़ है।