मेदवेदेव ने जीता पहला ग्रैंड स्लैम खिताब, जोकोविच का सपना तोड़ा

न्यूयॉर्क। नंबर दो टेनिस खिलाड़ी रूस के डेनिल मेदवेदेव ने रविवार रात को वि के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच का साल में चारों ग्रैंड स्लैम जीतने का सपना तोड़ते हुए यूएस ओपन 2021 का पुरुष एकल खिताब जीत लिया। मेदवेदेव ने शानदार खेल दिखाते हुए शीर्ष वरीयता प्राप्त जोकोविच को लगातार सेटों में 6-4, 6-4, 6-4 से हराया। इस साल फरवरी में आस्ट्रेलिया ओपन फाइनल में जोकोविच से हारने वाले 25 वर्षीय मेदवेदेव ने अपने कॅरियर का पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता। जोकोविच इस हार के साथ एक सीजन में चार ग्रैंड स्लैम जीतने की उपलब्धि हासिल करने से वंचित रह गए।
जोकोविच ने इस साल आस्ट्रेलियन ओपन, फ्रेंच ओपन और विम्बलडन खिताब जीता था और यूएस ओपन खिताब जीतने के बाद वह आस्ट्रेलिया के रॉड लेवर के बाद 52 वर्षो में पहली बार एक सीजन में चार ग्रैंड स्लैम जीतने वाले टेनिस खिलाड़ी बन जाते। इस हार के साथ जोकोविच स्पेन के राफेल नडाल और स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर से अधिक ग्रैंड स्लैम जीतने के रिकॉर्ड से भी चूक गए। तीनों के इस समय एक बराबर 20 ग्रैंड स्लैम खिताब हैं। दूसरी तरफ मेदवेदेव इस खिताब के साथ ग्रैंड स्लैम खिताब को जीतने वाले येवगेनी काफेलनिकोव और मरात साफिन के बाद तीसरे रूसी खिलाड़ी बन गए।
मेदवेदेव ने जीत के बाद कहा, ‘आप नहीं जानते कि आप अपने कॅरियर में कब ग्रैंड स्लैम जीत सकते हैं। इस जीत से मुझे काफी खुशी महसूस हो रही है। यह मेरा पहला ग्रैंड स्लैम है मैं नहीं जानता कि मैं तब कैसा महसूस करूंगा जब मैं दूसरा या तीसरा ग्रैंड स्लैम जीतूंगा। यह मेरा पहला ग्रैंड स्लैम है और इसके मेरे लिए बहुत मायने हैं इसलिए मैं बहुत खुश हूं।’
सेमीफाइनल जीत के बाद मेदवेदेव ने कहा था कि वह फाइनल में जोकोविच के खिलाफ कड़ा संघर्ष करेंगे और उन्होंने अपना वादा पूरा कर दिखाया। जोकोविच फाइनल के दौरान हताशा में दिखाई दिए। उन्होंने अपने हाथों से मौकों को फिसल जाने दिया। दूसरे सेट में वह पहले दो रिटर्न गेमों में रूसी खिलाड़ी की सर्विस तोड़ने के मौके चूक गए जिसके बाद वह वापसी नहीं कर पाए।
मेदवेदेव दो साल पहले यूएस ओपन के फाइनल में पहुंचे थे लेकिन नडाल से उन्हें पांच सेटों में हार का सामना करना पड़ा था। मेदवेदेव ने पहले गेम से ही मैच पर अपना नियंतण्ररखा और अपने कॅरियर की सबसे बड़ी जीत दो घंटे 15 मिनट में हासिल की। रूसी खिलाड़ी ने ट्रॉफी लेने के दौरान कहा, ‘मैं आपके प्रशंसकों और नोवाक से माफी मांगना चाहता हूं। मैंने ऐसा किसी से नहीं कहा लेकिन मैं आज सबके सामने कहना चाहता हूं कि मेरे लिए आप इतिहास के सबसे महान टेनिस खिलाड़ी हो।’
25 वर्षीय मेदवेदेव ने तीसरे सेट में 5-2 के स्कोर पर अपने पहले चैंपियनशिप प्वांइट पर डबल फाल्ट किया और गेम में बाद में पहली बार मैच में अपनी सर्विस गंवाई। दर्शकों की भीड़ ने यहां से जोकोविच का वापसी के लिए उत्साहवर्धन करना शुरू किया और मेदवेदेव अगले मैच प्वांइट पर फिर डबल फाल्ट कर बैठे। लेकिन मैच में सफलतापूर्वक सर्विस करते हुए उन्होंने उस समय खिताब जीत लिया जब जोकोविच का बैकहैंड रिटर्न नेट में उलझ गया। मेदवेदेव ने मैच में आठ बार में चार ब्रेक अंक भुनाए जबकि छह मौकों में मात्र एक बार अपनी सर्विस गंवाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *