84 सिख दंगे: RP सिंह की CM योगी से अपील, जल्द सामने लाई जाए SIT की रिपोर्ट

साल 1984 में भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद उत्तर प्रदेश भी सिख दंगों की आग में झुलसा था। 84 के दंगों के 36 सालों बाद जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) गठित की गई थी। वहीं अब भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता आरपी सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील की है कि फरवरी 2019 में 84 सिख नरसंहारों की जांच के लिए गठित SIT की रिपोर्ट जल्द से जल्द प्रस्तुत करवाएं।

आरपी सिंह ने ट्वीट किया कि यूपी पुलिस के सेवानिवृत्त डीजी अतुल की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एसआईटी को 6 महीने में अपनी रिपोर्ट देनी थी। मैं मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से अनुरोध करता हूं कि जल्द से जल्द 84 सिख नरसंहार पर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।

2019 में किया गया SIT का गठन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सिख दंगों की जांच के लिए साल 2019 में एक SIT का गठन किया था। इस SIT को तमाम शक्तियां दी गईं और निष्पक्ष जांच करने को कहा गया था। यूपी पुलिस के सेवानिवृत्त डीजी अतुल की अध्यक्षता में इसका गठन किया गया था।

बता दें कि सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार सिख विरोधी दंगों में कानपुर में 127 लोगों को मौत के घाट उतारा गया था। इस दौरान कई घरों को लूटा गया। एक ही परिवार के कई-कई लोगों को बेदर्दी से कत्ल कर दिया गया था।