इस बल्‍लेबाज ने एक पारी में अकेले जड़ दिए 424 रन, पिच पर ऐसी कयामत नहीं देखी होगी

क्रिकेट मैच में तिहरे अंकों तक पहुंचने की खुशी और अहमियत क्‍या होती है, इस मुकाम तक पहुंचने वाले बल्‍लेबाज के चेहरे से ही इसे समझा जा सकता है. और अगर कोई बल्‍लेबाज दोहरा शतक लगा दे तो फिर कहने ही क्‍या. अब अगर इसमें एक और शतक जोड़कर तिहरे शतक की बात करें तो ऐसा कारनामा अंजाम देने वाले बल्‍लेबाज तो इतिहास में दर्ज हो ही जाते हैं. लेकिन आज जिस खिलाड़ी के बारे में हम बताने जा रहे हैं उसने एक नहीं, दोहरा नहीं, तिहरा भी नहीं बल्कि 400 से ज्‍यादा रनों की पारी खेलकर कीर्तिमान स्‍थापित किया. इस क्रिकेटर ने आज यानी 16 जुलाई के दिन ही ये जबरदस्‍त उपलब्धि हासिल की थी. आइए, आपको बताते हैं कि आखिर इस खिलाड़ी ने किस टीम के खिलाफ और किसी टीम के लिए ये कारनामा अंजाम दिया.
दरअसल, इस खिलाड़ी का नाम है आर्ची मैक्‍कलारेन (Archie MacLaren). इंग्‍लैंड के लिए 35 टेस्‍ट मैचों का हिस्‍सा रहे आर्ची ने काउंटी क्रिकेट चैंपियनशिप में अपनी बल्‍लेबाजी के झंडे गाड़े थे. जिस मुकाबले की हम बात कर रहे हैं वो टांटन में खेला गया था. इसी मैच में आर्ची ने आज यानी 16 जुलाई के दिन लंकाशर के लिए खेलते हुए समरसेट के खिलाफ 424 रनों की असाधारण पारी खेली थी. तब साल 1895 का था. ये उस समय प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सबसे बड़ा व्‍यक्तिगत स्‍कोर हुआ करता था. दिलचस्‍प बात है कि ये रिकॉर्ड 99 साल तक कायम रहा था. और इसे तोड़ने वाला भी बेहद धांसू बल्‍लेबाज था. जी हां, वेस्‍टइंडीज क्रिकेट के महान बल्‍लेबाज ब्रायन लारा ने 1994 में इस रिकॉर्ड को अपने नाम कर लिया था.

दाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करने वाले आर्ची मैक्‍कलारेन ने इंग्‍लैंड के लिए 35 टेस्‍ट मैचों में हिस्‍सा लिया. इसमें उन्‍होंने 33.87 की औसत से रन बनाए. आर्ची ने 61 पारियों में चार बार नाबाद रहते हुए 1931 रन जोड़े. टेस्‍ट क्रिकेट में उनके नाम 5 शतक और आठ अर्धशतक दर्ज हैं. इसके अलावा 29 कैच भी उन्‍होंने लिए हैं. खेल के इस सबसे प्रतिष्ठित प्रारूप में आर्ची के नाम 140 रन के तौर पर उच्‍चतम स्‍कोर भी दर्ज है. जहां तक बात उनके प्रथम श्रेणी करियर की है तो इसमें उनके आंकड़े और भी शानदार है. आर्ची मैक्‍कलारेन ने अपने करियर में खेले कुल 424 प्रथम श्रेणी मैचों में 34.15 की औसत से 22,236 रन बनाए हैं. 703 पारियों में से 52 पारियों में आर्ची नाबाद पवेलियन लौटे हैं. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनके बल्‍ले से 47 शतक और 95 अर्धशतक निकले हैं. इस दौरान बेहतरीन फील्डिंग करते हुए 452 कैच भी उन्‍होंने लिए हैं. प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक संयोग भी है. वो ये कि आर्ची ने 424 मैच खेले हैं और फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में उनका सर्वाधिक स्‍कोर भी 424 रन ही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *