पीएम मोदी की बैठक के बीच सीएम ममता बनर्जी का बयान, कहा- कश्मीर की आजादी नहीं छीननी चाहिए

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि कश्मीर की आजादी नहीं छीननी चाहिए. उन्होंने कहा कि पिछले 2 साल में बीजेपी नेता के सिवाय कोई भी कश्मीर नहीं जा सका. क्या सिर्फ बीजेपी देशभक्त है, बाकी सब आतंकवादी हैं? एक तरफ जहां कश्मीर के राजनीतिक दलों के प्रमुखों के साथ गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नई दिल्ली में बैठक चल रही है तो वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विवादित बयान दिया है. ममता ने कहा कि कश्मीर की आजादी नहीं छीननी चाहिए. उन्होंने कहा कि पिछले 2 साल में बीजेपी नेता के सिवाय कोई भी कश्मीर नहीं जा सका. क्या सिर्फ बीजेपी देशभक्त है, बाकी सब आतंकवादी हैं?

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री आवास पर दिन में 3 बजे बुलाई गई बैठक का फिलहाल एजेंडा गुप्त रखा गया है. जम्मू-कश्मीर को लेकर पीएम आवास पर हो रही इस बड़ी बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, एनएसए अजित डोभाल और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी शामिल हैं. इसके अलावा रविंद्र रैना, कविंद्र गुप्ता और निर्मल सिंह भी इस चर्चा में शरीक हैं. जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री आवास पर सवा घंटे से अहम बैठक जारी है. बैठक में पहुंचे नेताओं का पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वागत किया. इसके साथ ही सभी नेताओं का फोटो सेशन भी हुआ. गौरतलब है कि इस बैठक में आठ दलों के 14 नेता शामिल हैं.

इससे पहले, जम्मू-कश्मीर पर जारी पीएम मोदी की बैठक पर एबीपी न्यूज़ से चर्चा के दौरान पीडीपी नेता रऊफ भट्ट ने कहा कि उम्मीद है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों की भावनाओं का सम्मान किया जाएगा. यहां के लोगों को प्रधानमंत्री से उम्मीदें हैं. हम उम्मीद करते हैं कि बैठक में जो भी होगा वो अच्छा होगा. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के सैथ बैठक के दौरान नेशनल कांफ्रेंस के फारुख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद, गुलाम अहमद मीर, ताराचंद, पीडीपी की महबूबा मुफ़्ती, बीजेपी के निर्मल सिंह, कविन्द्र गुप्ता और रविन्द्र रैना, पीपुल कांफ्रेंस के मुजफ्फर बेग और सज्जाद लोन, पैंथर्स पार्टी के भीम सिंह, सीपीआईएम के एमवाई तारीगामी, जेके अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी शामिल है.