उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य का आपत्तिजनक बयान, कहा- लड़कियों को मोबाइल नहीं दें, वे बात करती हैं और फिर भाग जाती हैं

उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की एक सदस्य ने लड़कियों को लेकर एक ऐसा बयान दिया है। जिसकी खूब चर्चा है। आयोग की सदस्य मीना कुमारी का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें वे रेप के लिए मोबाइल को जिम्मेदार बता रही हैं। सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो गया है। वीडियो में मीना कुमारी रेप के बढ़ते मामलों को लेकर एक सवाल का जवाब देती हैं और रेप के मामलों को बढ़ाने के लिए मोबाइल फोन के बढ़ते उपयोग को जिम्मेदार बताती हैं।

वीडियो में मीना कुमारी महिलाओं पर सख्त पाबंदियां लगाने की वकालत करती नजर आती हैं। इस वीडियो को कांग्रेस की राष्ट्रीय संयोजक रुचिरा चतुर्वेदी ने शेयर किया है। जिसमें कुमारी कहती हैं, ‘लड़कियों को हमेशा कड़ी निगरानी में रखना चाहिए। यह पता करना चाहिए कि वे कहां जा रही हैं और किसके साथ जा रही हैं।’ उन्होंने कहा, ‘उन्हें मोबाइल फोन नहीं देना चाहिए। वे फोन पर बात करती हैं और बाद में शादी के लिए भाग जाती हैं।’

लड़कियों को नहीं देना चाहिए मोबाइल-कुमारी

चतुर्वेदी ने लिखा कि बढ़ते रेप मामलों को लेकर एक सवाल के जवाब में उत्तर प्रदेश महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने कहा कि लड़कियों को मोबाइल फोन नहीं देना चाहिए। वे फोन पर बात करती हैं और बाद में शादी के लिए भाग जाती हैं। चतुर्वेदी ने तंज कसते हुए कहा कि तो चाउमीन और जीन्स के बाद अब मोबाइल फोन रेप के लिए जिम्मेदार हैं।

रेप का कारण इतनी बुरी मानसिकता है-मालीवाल

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी वीडियो को शेयर किया है। उन्होंने कहा कि रेप का कारण इतनी बुरी मानसिकता है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘नहीं मैडम, लड़की के हाथ में फोन बलात्कार का कारण नहीं है। बलात्कार का कारण है ऐसी घटिया मानसिकता जो अपराधियों के हौसले और बढ़ाती है। प्रधानमंत्री जी से निवेदन है सभी महिला आयोगों को जरा सेंसिटाइज करवाइए, एक दिन दिल्ली महिला आयोग की कार्यशैली देखने भेजिए, हम सिखाते हैं उन्हें।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *