मध्य प्रदेश : बगल से गुजरी 110 किमी प्रति घंटा की रफ़्तार से ट्रेन तो गिर पड़ी रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग

हर रोज सभी किसी ना किसी हादसे के बारे में सुनते ही हैं, लेकिन मध्य प्रदेश के बुरहानपुर में ऐसा हादसा हुआ जिसके बारे में किसी ने कभी सोचा ही नहीं होगा. दरअसल यहां जब एक स्टेशन से ट्रेन स्पीड में गुजरी तो रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग भर-भराकर गिर पड़ी. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस समय स्टेशन में कोई भी व्यक्ति मौजूद नहीं था. इस कारण एक बड़ा हादसा होने से टल गया. इस अजीब से हुए हादसे से रेलवे कर्मचारी भी स्तब्ध हैं.

यह घटना नेपानगर से असीगढ़ के बीच हुई. यहां से पुष्पक एक्सप्रेस 110 किमी प्रति घंटा की स्पीड से गुजरी. ट्रेन ने शाम करीब 4 बजे जैसे ही जंगल में स्थित चांदनी रेलवे स्टेशन बिल्डिंग को क्रॉस किया तो ट्रेन की स्पीड से पूरा स्टेशन कांप गया और देखते ही देखते बिल्डिंग का सामने का हिस्सा गिर गया.

ट्रेन की स्पीड 110 किलोमीटर प्रति घंटा बताई जा रही है.

ट्रेन की स्पीड से टूट गए खिड़की का कांच

जब ट्रेन गुजरी तो उसकी स्पीड से सारे स्टेशन में कंपन होने लगी. कंपन इतनी तेज थी कि स्टेशन अधीक्षक के कमरे की खिड़कियों के कांच भी टूट गए. बोर्ड टूटकर नीचे गिर गए. मलबा प्लेटफॉर्म पर बिखर गया. मौके पर तैनात एएसएम प्रदीप कुमार पवार ट्रेन को हरी झंडी दिखाने बाहर निकले. भवन गिरता देख दूर हो गए. उन्होंने इसकी सूचना भुसावल से एडीआरएम मनोज सिंहा, खंडवा एडीएन अजय सिंह, सीनियर डीएन राजेश चिकले को दी.

1 घंटे तक खड़ी रही ट्रेन

घटना की जानकारी लगते ही सभी अधिकारी स्टेशन पर पहुंच गए. फौरन घटनास्थल पर भुसावल, खंडवा, बुरहानपुर की आरपीएफ और जीआरपी को तैनात किया गया. घटना के दौरान पुष्पक एक्सप्रेस 1 घंटे तक खड़ी रही और उस रूट से गुजरने वाली बाकी की ट्रेन भी आधा घंटे तक रूकी रही.

यह बिल्डिंग साल 2007 में बनी थी- डीआरएम

चांदनी स्टेशन की यह बिल्डिंग साल 2007 में बनी थी. भुसावल डीआरएम विवेक कुमार गुप्ता के मुताबिक चांदनी स्टेशन की बिल्डिंग के एक हिस्से का छज्जा टूटा है, जिसे रिपेयर कर लिया जाएगा. ज्यादा नुकसान नहीं हुआ.