मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने गोवध निरोधक विधेयक पारित होने पर की गाय की पूजा

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने विधान परिषद में गोहत्या निरोधक विधेयक के पारित होने पर खुशी मनाते हुए मंगलवार को यहां गायों की विशेष पूजा की। येदियुरप्पा ने अपने आवास पर ‘गोमाता’के माथे पर कुमकुम और हल्दी से तिलक लगाया और उन पर अक्षत और पुष्प की वर्षा की। इस मौके पर राज्य के पशुपालन मंत्री प्रभु चौहान और गृह मंत्री बसावराज बोम्मई सहित उनके मंत्रिमंडल के अन्य सहयोगी भी मौजूद थे। गाय को माला पहनाने के बाद येदियुरप्पा ने उन्हें चावल, दाल और केले खिलाये। कर्नाटक मवेशी वध रोकथाम एवं संरक्षण विधेयक विधानसभा में पारित होने के बाद विधानपरिषद में अटक गया था।

यह विधेयक भाजपा सरकार के प्रमुख विधेयकों में से एक था जिसके बारे में पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में वादा किया गया था। सोमवार को जब विधान परिषद के उप सभापति एम के प्रणेश ने जब इस मामले को उठाया तो कांग्रेस और जदएस के सदस्य सदन के बीच में आ गए और नारेबाजी शुरू कर दी। विपक्ष के हंगामे के बीच प्रणेश ने विधेयक के पारित होने की घोषणा की।

कर्नाटक देश के उन चुनिंदा राज्यों में शामिल है, जहां 12 साल से कम आयु की गायों और भैंसों के परिवहन, तस्करी और वध करने वालों के खिलाफ सख्त प्रावधान हैं। नये कानून के तहत मवेशी के वध पर सात साल तक की कैद और 50,000 रुपये से लेकर पांच लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। कांग्रेस और जदएस विधेयक के विरोध में थीं। दोनों पार्टियों का कहना है कि इसकी मंशा अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने की है।