उद्धव का दावा, बाल ठाकरे का स्मारक राष्ट्रवाद को बढ़ावा देगा

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा कि शिवसेना के दिवंगत प्रमुख बाल ठाकरे का स्मारक आने वाली पीढ़ियों में राष्ट्रवाद और हिंदुत्व की भावना को बढ़ावा देगा। मुख्यमंत्री ने शहर में 1,680.50 करोड़ रुपये की लागत वाली पानी की पाइप लाइन परियोजना के शिलान्यास समारोह में यह बात कही। बाल ठाकरे का स्मारक औरंगाबाद में स्थापित करने का प्रस्ताव है। ठाकरे ने औरंगाबाद में तीन अन्य परियोजनों- 152 करोड़ रुपये की लागत वाली शहरी सड़क परियोजना, 174 करोड़ रुपये की सफारी पार्क परियोजना और बाल ठाकरे के स्मारक का ऑनलाइन तरीके से शिलान्यास किया।

उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘शिवसेना के दिवंगत संस्थापक बालासाहेब ठाकरे का स्मारक आने वाली पीढ़ियों में राष्ट्रवाद और हिंदुत्व की भावना को बढ़ावा देगा। यह उनके काम के बारे में भी बताएगा।’’ उद्धव ने कहा, ‘‘यह एक संयोग है कि मैं रिमोट से उस नेता के स्मारक का भूमि-पूजन कर रहा हूं, जिसे सत्ता का रिमोट कंट्रोल रखने के लिए जाना जाता था।’’ उन्होंने कहा कि वह बहुप्रतीक्षित पानी की पाइपलाइन योजना के काम की समीक्षा करने के लिए कोई सूचना दिए बिना शहर का दौरा कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब समृद्धि एक्सप्रेसवे परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण का काम चल रहा था, तब शिवसेना किसानों के पास उनके मुद्दों को सुलझाने के लिए पहुंची थी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने किसानों से मुलाकात की थी और उनकी समस्याओं का समाधान किया था। हमने उनके मुद्दों को लटकाए नहीं रखा था।’’ औरंगाबाद हवाई अड्डे का नाम बदलने की योजना पर ठाकरे ने कहा, ‘‘छत्रपति संभाजी के नाम पर हवाई अड्डे का नाम रखे जाने संबंधी प्रस्ताव राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत किया गया है और इसे केंद्र को भेज दिया गया है। मुझे विश्वास है कि इसे मंजूरी मिल जाएगी।