कश्मीर पर भारत ने UNHRC में कहा- पाकिस्तान झूठ की फैक्ट्री चला रहा है

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय की सेक्रेटरी (ईस्ट) विजय ठाकुर सिंह जिनेवा में UNHRC में जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान के झूठ का पर्दाफाश किया है। भारत ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान झूठ की फैक्ट्री चला रहा है और भारत पर झूठे और मनगढ़ंत आरोपों लगा रहा है। उन्होंने साफ कहा कि हम इस बात को दोहराना चाहते हैं कि यह संप्रभु निर्णय, संसद द्वारा पारित अन्य कानूनों की तरह है और यह भारत के लिए पूरी तरह से आंतरिक है। कोई भी देश अपने आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप को स्वीकार नहीं कर सकता है और भारत भी नहीं करेगा। भारत ने यूएनएचआरसी में कहा कि सीमा पार आतंकवाद के खतरों को देखते हुए लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कश्मीर में अस्थायी एहतियाती कदम उठाये गये। भारत ने कहा कि हमें उन लोगों की निंदा करनी चाहिए जो मानवाधिकारों की आड़ में दुर्भावनापूर्ण राजनीतिक एजेंडों के लिए इस मंच का दुरुपयोग कर रहे हैं।

विजय ठाकुर सिंह ने कहा कि हालिया विधायी उपायों के परिणामस्वरूप प्रगतिशील नीतियां अब जम्मू-कश्मीर, और लद्दाख में हमारे नागरिकों के लिए पूरी तरह से लागू होंगी। इससे लिंग भेदभाव समाप्त होगा, किशोर अधिकारों की बेहतर रक्षा होगी और शिक्षा, सूचना और काम के अधिकार लागू होंगे। इससे पहले पाकिस्तान ने कश्मीर में स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा एक अंतरराष्ट्रीय जांच कराने की मांग की और कहा कि भारत द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद के हालात पर विश्व मानवाधिकार संस्था को ‘‘उदासीन’’ नहीं रहना चाहिए।