ग्रीन कार्ड पर प्रत्येक देश के संबंध में लगी सीमा हटाने को वोट करेगी अमेरिकी कांग्रेस

वॉशिंगटन। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा मंगलवार को उस विधेयक पर मतदान करेगी जो ग्रीन कार्ड जारी करने को लेकर देशों पर लगी सीमा को हटाने की मांग करता है। रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी दोनों के 310 से ज्यादा सांसदों से समर्थन प्राप्त ‘फेयरनेस फॉर हाई स्किल्ड इमिग्रेंट्स एक्ट’ के आसानी से पारित होने की संभावना है। विधेयक के प्रस्तावक इस बात से खुश हैं कि 203 डेमोक्रेट और 108 रिपब्लिकन इस विधेयक को सह प्रायोजित कर रहे हैं। इसके प्रस्तावक एक त्वरित प्रक्रिया अपना रहे हैं जिसके तहत विधेयक को बिना सुनवाई एवं संशोधनों के पारित होने के लिए 290 मतों की जरूरत है।

ग्रीन कार्ड पर प्रत्येक देश के हिसाब से लगी सीमा से मुख्यत: फायदा भारत जैसे देशों से एच-1 बी वर्क वीजा पर काम कर रहे हाई-टेक पेशेवरों को फायदा होगा जिनके लिए ग्रीन कार्ड का इंतजार एक दशक से भी ज्यादा वक्त का है। हाल के कुछ अध्ययनों में कहा गया कि एच-1 बी वीजा प्राप्त भारतीय आईटी पेशेवरों के लिए यह इंतजार 70 साल से भी ज्यादा का है।
इसे भी पढ़ें: यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करेगा ईरान, अमेरिका ने दी चेतावनी

स्वतंत्र रूप से काम करने वाली कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस (सीआरएस) के मुताबिक, इस विधेयक से परिवार आधारित आव्रजन वीजा पर प्रत्येक देश को लेकर लगी सीमा को उस साल उपलब्ध ऐसे वीजा की कुल संख्या सात प्रतिशत से बढ़कर 15 प्रतिशत हो जाएगा और रोजगार आधारित आव्रजन वीजा के लिए सात प्रतिशत की सीमा खत्म हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *