समाज को बांटने में लगा है विपक्ष : मोदी

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुजफ्फरपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि 4 चरणों के चुनाव के बाद कुछ लोग चारों खाने चित्त हो चुके हैं। अब अगले चरणों में ये तय करना है कि इनकी हार कितनी बड़ी होगी और भाजपा NDA की जीत कितनी भव्य होगी। इसी बीच आम और लीची का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि इन फल जैसे मिठास घोलने वाले स्वीट सिटी में आज इतनी बड़ी संख्या में हमें आशीर्वाद देने आये हैं वो कई लोगों के मुंह में कड़वाहट पैदा करने वाला है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि जिन्होंने बिहार की पहचान बदली थी, वो इस चुनाव में केंद्र में अपनी सरकार बनाने के लिए नहीं लड़ रहे, वो किसी भी तरह से अपने सदस्य बढ़ाने के लिए छटपटा रहे हैं। उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बिहार में लूट-पाट, अपहरण, भ्रष्टाचार के दिन वापस लाना। इसी के साथ उन्होंने कहा कि उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बेटियों का अपहरण, गुंडागर्दी, हत्याएं, हर योजना में भ्रष्टाचार। उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है, सूरज ढलने के बाद अपने ही घर मे कैद हो जाना, घुट-घुट के जीना, पलायन के लिए मजबूर होना।

राजद पर बरसते हुए मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार, रामविलास पासवान और सुशील कुमार मोदी सहित राजग के हमारेनेताओं के प्रयत्नों से बिहार ने बड़ी मुश्किल से अपने पुराने दौर को पीछे छोड़ा है लेकिन कुछ ताकतें बिहार में गिद्ध दृष्टि जमाए हुए हैं। ये बिहार को जाति, समाज के आधार पर बांटकर अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं। अपने भ्रष्टाचार, काले कारनामों को छिपाना चाहते हैं। उनका लक्ष्य है कि दिल्ली में कमजोर सरकार बने ताकि ये फिर से मनमानी कर सके। मोदी ने कहा कि वे (लालू प्रसाद) जमानत पाने के लिए अदालत के चक्कर काट रहे हैं और इसलिए दिल्ली में मजबूत सरकार से डरते हैं। उन्होंने कहा कि जो जेल में हैं या जेल के दरवाजे पर हैं। जो बेल पर हैं या बेल के लिए कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे हैं। वो सब केंद्र में एक मजबूत सरकार को एक मिनट भी बर्दाश्त नहीं करना चाहते हैं।

 

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि ये चाहें कितनी भी कोशिश कर लें, कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ जो अभियान हमने चलाया हुआ है, उसकी रफ्तार धीमी नहीं पड़ेगी। इनको गरीब का लूटा एक-एक पैसा लौटाना ही पड़ेगा। जैसे हम मिशेल मामा को उठाकर लाएं हैं, उसी तरह इनके बाकी चाचाओं को भी भारत आना ही पड़ेगा। इसी के साथ प्रधानमंत्री ने लोगों से कांग्रेस और राजद की मंशा को समझने की अपील की।