मोदी ने विपक्षी गठबंधन को ‘अवसरवादी और ‘महामिलावटी करार दिया

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कन्नौज में एक चुनाव जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी गठबंधन को ‘अवसरवादी और ‘महामिलावटी करार दिया। उन्होंने कहा कि विपक्ष चाहे जितना प्रयास कर ले, फिर से मोदी ही आएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हो या सपा -बसपा इनका बस एक ही मंत्र है -जात-पात जपना जनता का माल अपना। हमारे देश में ऐसे बुद्धिमान और तेजस्वी लोग हैं जो आलू से सोना बनाते हैं। वो काम हम नहीं कर सकते, न मेरी पार्टी कर सकती। उन्होंने कहा कि हम तिरंगे झंडे से प्रेरणा लेकर देश को आगे बढ़ाना चाहते हैं। तिरंगे के पहले रंग की तरह हम केसरिया क्रांति करना चाहते हैं। केसरिया क्रांति का मतलब है कि हमें ऊर्जा की क्रांति चाहिए। सफेद रंग जो हमें स्वेत क्रांति की प्रेरणा देता है। दूध, अंडे, कॉटन अन्य चीजों में क्रांति करने की प्रेरणा देता है। नीला, मतलब मछुवारे भाई-बहन, पानी की ताकत, समुद्री तट और नदियों की ताकत को बल देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि झंडा आसमान में तब जाता है जब डंडा मजबूत होगा। मेरे लिए डंडे का मतलब है देश का मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर। ये डंडा आधुनिक भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर की पहचान है।

भाषण की मुख्य बातें

23 मई को इतिहास बनने वाला है। क्योंकि नई पीढ़ी सपा बसपा के अवसरवाद को अच्छी तरह पहचानती है। नया हिंदुस्तान अब डरेगा नहीं। नया हिंदुस्तान आतंकियों के घर में घुसकर मारेगा। जब देश सुरक्षित होगा तभी सामान्य मानवी का जीवन सही से चलेगा।

याद कीजिये तिर्वा में सपा ने कैसे बाबा साहेब आम्बेडकर का अपमान किया था, ये बसपा ने भुला दिया है। याद कीजिये बसपा ने बाबा साहेब आम्बेडकर के नाम पर मेडिकल कॉलेज का नाम रखा था। लेकिन सपा सरकार ने बाबा साहेब के नाम की पट्टी को उखाड़कर फेंक दिया था।

आज जितने भी लोग खुद को भावी प्रधानमंत्री बता रहे हैं, इन्होंने देश को मजबूत बनाने की, जवानों के रक्षा की कोई योजना सामने रखी है क्या? जो मोदी को हराने के लिए, पाकिस्तान के झूठ को सच मानते हों, पाकिस्तान का हीरो बनना चाहते हों, जो एयर स्ट्राइक के भी सबूत मांगते हों उनसे क्या उम्मीद की जा सकती है।

हमारे देश के वीर शहीदों ने तिरंगे झंडे को लेकर आजादी की लड़ाई लड़ी थी। वो स्वराज के लिए लड़े थे, अब हमें सुराज के लिए लड़ना है। हम तब संकटों से निकलना चाहते थे और अब हम समृद्धियों की ऊंचाइयों को छूना चाहते हैं। तिरंगा ही हमारी प्रेरणा है।

आतंकवाद से देश की रक्षा होनी चाहिए की नहीं ? सपा बसपा वाले एक बार भी आतंकवाद पर बोले क्या ? मोदी को इतनी गाली दी, लेकिन आतंकवाद को एक भी गाली दी क्या ? क्या सपा बसपा वाले आतंकवादियों से डरते हैं या उनको बचाने के लिए चुप बैठे हैं।

आतंकवाद से देश की रक्षा होनी चाहिए की नहीं? सपा बसपा वाले एक बार भी आतंकवाद पर बोले क्या? मोदी को इतनी गाली दी, लेकिन आतंकवाद को एक भी गाली दी क्या? क्या सपा बसपा वाले आतंकवादियों से डरते हैं या उनको बचाने के लिए चुप बैठे हैं।

आज मोदी का प्रचार वो किसान कर रहे हैं जिन्हें पीएम किसान योजना से मदद राशि मिली। आज मोदी का प्रचार वो परिवार कर रहा है जिसके बेटे मातृभूमि की रक्षा में हैं, जिन्हें बूलेट प्रूफ जैकेट और हथियार मोदी ने दिये हैं।

आज मोदी का प्रचार वो परिवार कर रहा है जिसके बेटे मातृभूमि की रक्षा में हैं, जिन्हें बूलेट प्रूफ जैकेट और हथियार मोदी ने दिये हैं। आज सभी एकमत होकर कह रहे हैं कि महामिलावटी लोगों तुम कितनी भी कोशिश कर लो लेकिन – आएगा तो मोदी ही।

मैं जब हेलिपैड पर उतरा तो वहां जो सीनियर लोग रिसीव करने आये थे, मैंने उनसे पूछा की चुनाव के क्या हाल है? तो उन्होंने कहा कि हम तो चुनाव नहीं ही नहीं रहे, न भाजपा लड़ रही है और न ही कोई उम्मीदवार। ये चुनाव तो उत्तर प्रदेश की जनता लड़ रही है:

आज मोदी का प्रचार वो बहन कर रही है जिसने पूरी जिंदगी चूल्हे के धूंए मे निकाल दी थी और उसे उज्ज्वला योजना से गैस कनेक्शन मिला। मोदी का प्रचार वो बेटी कर रही है जिसके घर शौचालय बना और उसे इज्जत घर मिल गया।