भाजपा ने ‘संकल्प पत्र’ लोकसभा 2019 जारी किया

नयी दिल्ली। भाजपा ने 11 अप्रैल से शुरू होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए सोमवार को अपना घोषणापत्र जारी कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह व संसदीय बोर्ड के सदस्यों की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी ने ‘संकल्प पत्र’ लोकसभा 2019 जारी किया। पार्टी ने अपने घोषणापत्र को ‘‘संकल्प पत्र’’ का नाम दिया है। संकल्प पत्र समिति के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने संकल्प पत्र के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 2019 के चुनाव में भाजपा 75 संकल्प के साथ जनता के सामने जा रही है, जिसे 2022 तक पूरा किया जाएगा।

संकल्प पत्र की बड़ी बातें

किसान क्रेडिट कार्ड पर 5 साल तक के लिए कोई ब्याज नहीं।

1 लाख तक के लिए कृषि लोन पर 5 साल तक ब्याज नहीं।

देश के सभी किसानों को 6000 सलाना मिलेगा।

 

60 साल के बाद किसानों को पेंशन की सुविधा मिलेगा।

राष्ट्रीय आयोग का गठन किया जाएगा।

60 साल के बाद छोटे दुकानदारों को पेंशन की सुविधा मिलेगी।

राम मंदिर निर्माण के लिए सभी संभावना को तलाशेंगे।

किसानों की आय को 2022 तक दोगुनी करेंगे।

सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल को लागू करेंगे।

 

सभी जमीनी रिकॉर्ड को डिजिटल करेंगे।

75 मेडिकल कॉलेज, विश्वविद्यालय खोले जायेंगे।

आदिवासियों स्वतंत्रता सेनानियों के लिए संग्रहालय बनाएंगे।

तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाएंगे।

घोषणापत्र जारी करने से पहले पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने पांच साल की उपल्ब्धियों को बताते हुए कहा कि 2014 से 2019 की यात्रा भारत के आगे बढ़ने की यात्रा के रुप में याद किया जाएगा। 5 साल के अंदर 50 करोड़ गरीबों के जीवन स्तर को सुधारने का प्रयास मोदी सरकार ने किया। 7 करोड़ लोगों के घर में गैस पहुंची, 2.50 करोड़ लोगों को घर मिला। आतंकवाद को मुंहतोड़ जवाब देने की नीति बनाई गई।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में पार्टी ने संकल्प पत्र (घोषणापत्र) समिति बनाई थी, जिसे 12 श्रेणियों में विभाजित किया गया था। संकल्प पत्र के लिए देशभर में करीब 7700 सुझाव पेटियों, 300 रथों, 100 संवाद कार्यक्रम और इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से जनता के 6 करोड़ लोगों के सुझाव लिए गए थे।

भाजपा का घोषणा पत्र

2019 2014

संकल्प पत्र सबका साथ, सबका विकास

राजनाथ सिंह, चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी, चेयरमैन

चुनाव से तीन दिन पहले चुनाव के दिन