त्रिपुरा : रैली के दौरान मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

उदयपुर (त्रिपुरा)। त्रिपुरा में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कांग्रेस पर निशाना साधा। उदयपुर में हुई इस जनसभा में मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस और उसके सहयोगी दल मिलकर मध्यम वर्ग पर अधिक टैक्स लगाने की कोशिश में है। उन्होंने कांग्रेस से सवाल करते हुए कहा, मैं पूछता हूं कि क्या ऐसा करके लाइसेंस राज फिर से लाया जाएगा। इससे मध्यवर्ग बर्बाद हो जाएगा। मैं पूछना चाहता हूं कि मध्यम वर्ग को खत्म कर दोगे तो देश का भला कैसे होगा। रैली में कांग्रेस के घोषणा पत्र का जिक्र करते हुए मोदी ने उसे ‘ढकोसला पत्र’ बताया। मोदी ने कहा कि 50-60 पेज के उस घोषणा पत्र में एक बार भी मध्यम वर्ग का जिक्र नहीं है। मोदी ने इशारों-इशारों में कहा कि कांग्रेस सरकार जो ‘न्याय’ योजना लाने वाली है उसके लिए पैसा मध्यवर्ग पर ज्यादा टैक्स लगाकर निकाला जाएगा।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस और वाम मोर्चे पर निशाना साधते हुए रविवार कहा कि विपक्षी दल उन्हें सत्ता से हटाने के लिये एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं, भले ही इसके लिये उन्हें पाकिस्तान के गीत ही क्यों न गाने पड़ें। त्रिपुरा के उदयपुर में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि त्रिपुरा के लोगों ने 25 साल बाद वाम मोर्चे को बेदखल कर पूरे देश के लिये एक मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस त्रिपुरा में दाखिल होने की पूरी कोशिश कर रही है, लेकिन लोगों ने उसे ऐसा नहीं करने दिया। उन्होंने वाम मोर्चे का अत्याचार सहन किया और भाजपा के उदय का संयम से इंतजार कर रहे हैं। मैं भाजपा में विश्वास के लिये त्रिपुरा के लोगों का शुक्रगुजार हूं।”
लोकसभा चुनाव: नए नारे ‘अब होगा न्याय’ के सहारे दिल जीतेगी कांग्रेस
मोदी ने कहा कि विपक्षी पार्टियां उन्हें हटाने के लिये किसी भी हद तक गिर सकती हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, “कांग्रेस और वाम दल मोदी को हटाने के लिये साथ काम कर रहे हैं। वह बहुत नीचे तक गिर गए हैं और पाकिस्तान के गीत गा रहे हैं, जबकि राजग सरकार पड़ोसी देश की धरती पर आतंकवादियों को सबक सिखा रही है।” मोदी ने रैली में आए लोगों से कहा, “क्या मैं देश के दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देकर सही नहीं कर रहा हूं?”
कांग्रेस के घोषणापत्र का मजाक उडा़ते हुए मोदी ने कहा, “सबसे पुरानी पार्टी 50-60 पन्नों का पाखंडी दस्तावेज लाई है। उसने उसमें एक बार भी मध्यम-वर्ग का जिक्र नहीं किया।” उन्होंने कहा, “कांग्रेस शासन में मध्यम वर्ग लंबे समय तक पीड़ित रहा। कांग्रेस समेत कुछ दल कहते हैं कि मध्यम वर्ग पर ज्यादा कर लगाने चाहिये।”
लाल गलियारे में 40% सीटों पर क्षेत्रीय दलों का असर, BJP के लिए चुनौती
वाम दलों पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि वह समझते थे कि उनकी पार्टी का संविधान देश के संविधान बड़ा है।” मोदी ने कहा, “वाम दल देश को दिशा नहीं देना चाहते। वह सिर्फ अपनी हालत सुधारने को उतावले हैं।” त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा कि राज्य सरकार ने सिर्फ एक साल में कानून-व्यवस्था सुधार दी और ढांचागत विकास किया। उन्होंने दावा किया, “हमारी सरकार ने किसानों से सीधे कृषि उत्पाद खरीदने की शुरुआत की जिससे बिचौलियों और साहूकारों को झटका लगा।”