मीटू अभियान : बाचतीत के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए : जैकलीन

मुंबई। अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस ने कहा है कि “यौन उत्पीड़न फिल्म जगत से जुड़ा एक विशेष मुद्दा नहीं है क्योंकि “यौन उत्पीड़क” हर जगह है।” “कभी-कभी हमारे अपने घर” में भी होते हैं। फिल्म जगत में चल रहे मीटू अभियान के बारे में पूछे जाने पर जैकलीन ने कहा कि इस समय जो हो रहा है उस पर बाचतीत के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

जैकलीन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हमें याद है कि लैंगिक चर्चा एक ऐसा संवाद है जो लंबे समय से लंबित है। इसे हमे फिल्म उद्योग तक सीमित नहीं रखना चाहिए। यह एक ऐसा संवाद है जिस पर लंबे समय से हमारे समाज में भी चर्चा नहीं हुई है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दुर्भाग्यवश, दुखद सचाई है कि यौन उत्पीड़क हमारे चारों तरफ हैं। कभी-कभी वे हमारे अपने घर में भी मिल जाते हैं।’’ अभिनेत्री ने कहा कि पूरा मुद्दा सेक्स के बारे में नहीं है बल्कि यह शक्ति संघर्ष के बारे में है।