स्वच्छता अभियान तथा विकास कार्यों को बढ़ावा देने के लिए एक अनूठी पेशकश

शाहजहांपुर (उप्र). शाहजहांपुर के जिलाधिकारी ने स्वच्छता अभियान तथा विकास कार्यों को बढ़ावा देने के लिए एक अनूठी पेशकश करते हुए उत्कृष्ट योगदान करनेवाली टीम के नेतृत्वकर्ता को एक दिन के लिए अपनी कुर्सी सौंपने का एलान किया है. जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने बुधवार को बताया कि उन्होंने जिले में स्वच्छता अभियान को बढ़ावा देने तथा अन्य विभिन्न विकास कार्यों के सिलसिले में महाविद्यालयों के स्तर पर टीमें बनवायी हैं. जिस टीम का काम सबसे अच्छा होगा, उसके अगुवा को एक दिन के लिए जिलाधिकारी की कुर्सी दे दी जायेगी. उन्होंने बताया कि एक दिन के जिलाधिकारी उनकी सीट पर बैठकर पूर्वाह्न नौ बजे से 11 बजे तक जनता की समस्याएं सुनेंगे और समाधान के लिए आदेश देंगे. उसके बाद वह विद्यालयों तथा गांवों का निरीक्षण भी करेंगे. हालांकि, उन्हें कोई वित्तीय अधिकार नहीं रहेगा. इस दौरान उनके साथ वर्तमान जिलाधिकारी भी रहेंगे.

जिलाधिकारी ने बताया कि उन्होंने जिले के सभी महाविद्यालयों में एक-एक टीम बनाने को कहा है. ये टीमें स्वच्छता अभियान के तहत साफ-सफाई करायेंगी. गांव में विकास कार्यों के लिए पड़े धन से कितना ज्यादा से ज्यादा काम कराया जा सकता है, उसका खाका भी ये टीमें पेश करेंगी. इसके अलावा गांवों में लोगों को शौचालयों का ही प्रयोग करने के लिए प्रेरित करेगी. टीम के लोग अपने-अपने आवंटित गांवों में फॉगिंग करायेंगे. साथ ही स्कूलों में रंगाई-पुताई तथा फर्नीचर, मध्याह्न भोजन, पोशाक तथा कॉपी-किताबों के वितरण की स्थिति के बारे में रिपोर्ट देंगे. उन्होंने बताया कि वह उन रिपोर्ट के आधार पर अधिकारियों की टीम को गांवों में भेजेंगे, जो वास्तविक स्थिति का जायजा लेगी. इस काम में करीब 15 दिन लगेंगे. जिस टीम का काम सबसे अच्छा होगा, उसके नायक को एक दिन के लिए जिलाधिकारी की कुर्सी सौंपी जायेगी.