भारत बंद पर बोले रविशंकर प्रसाद, क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से की जाएगी?

नई दिल्ली। देशभर में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ विपक्ष के विरोध पर ऐतराज जताते हुए सरकार ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को विरोध करने का अधिकार है और हम उसका स्वागत करते हैं लेकिन क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से की जाएगी? केंद्रिय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, “भारत बंद पूरी तरह से फेल हुआ है। भारत बंद में हुई हिंसा का हमें बहुत दुख है, हम इसकी भर्त्सना करते हैं।”

प्रसाद ने बिहार में एम्बुलेंस समय रहते हॉस्पिटल नहीं पहुंच पाने के कारण 2 साल की बच्ची की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि राहुल गांधी जवाब दें कि इसका जिम्मेदार कौन है? उन्होंने कहा कि भारत बंद के नाम पर पेट्रोल पम्पों में आग लगाईं जा रही है बसों और गाड़ियों को तोड़ा जा रहा है, कांग्रेस पार्टी जवाब दे कि देश में हो रही इन हिंसाओं का जिम्मेदार कौन है? पेट्रोल-डीजल की कीमत का बढ़ना हमारे हाथ से बाहर है क्योकि तेल उत्पादक देश ने अपने उत्पादन को कम कर रखा है। सरकार ने यह भी कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर इरान और वेनेजुएला में राजनीतिक अस्थिरता का असर है। सरकार की ओर से केंद्रिय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि तेल की किमतें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तय होते हैं पर सरकार इस समस्या का हल निकालनें में लगी हुई है।