रायपुर के पूर्व कलेक्टर ने भाजपा का दामन थामा

रायपुर के पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। एक चैनल से बातचीत में उन्होंने छ्त्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा शिक्षा के लिए काम किया है और मैं अभी भी यही प्रयास करुंगा कि शिक्षा को विशेषतौर पर आगे बढ़ा सकूं। इसी के साथ नवंबर में चुनाव लड़ने को लेकर चौधरी ने कहा कि पार्टी यह तय करेगी कि चुनाव लड़ना है या फिर नहीं। मैं एक कार्यकर्ता हूं। भारतीय जनता पार्टी की तारीफ करते हुए चौधरी ने कहा कि बीजेपी एक ऐसी पार्टी है जिसमें व्यक्ति के काम को और उसकी योग्यता को सही स्थान मिलता है। यह वंशवाद से दूर रहने वाली पार्टी है। इसी के साथ उन्होंने नक्सल प्रभावित इलाकों का जिक्र करते हुए कहा कि इस समस्या को राजनैतिक तौर पर खत्म किया जा सकता है क्योंकि लोकतंत्र में राजनैतिक तौर पर तय किया जाता है कि प्रशासन को क्या करना है। ऐसे में राजनैतिक तौर पर एक विजन दिया जा सकता है।

इसी के साथ युवाओं को लेकर चौधरी ने कहा कि युवाओं से मेरा रिश्ता बना हुआ है और वह बना रहेगा। हो सकता है कि राजनैतिक विचारों में मेरे से मतभेद हों लेकिन युवाओं से मेरे रिश्ते में परिवर्तन नहीं आएगा। उल्लेखनीय है कि नवंबर के आखिरी में छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसको लेकर पार्टियां जोड़-तोड़ में लगी हुई हैं।