बीजेपी सदस्य उन गुंडों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, जो पहले सीपीएम के लिए काम करते थे : ममता बनर्जी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी पर राज्य में हिंसा की राजनीति का सहारा लेने और विपक्षी पार्टियों के खिलाफ केन्द्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। राज्य में हाल ही में हुए पंचायत चुनाव का हवाला देते हुए ममता ने आरोप लगाया कि बीजेपी सदस्य उन गुंडों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, जो पहले सीपीएम के लिए काम करते थे।

तृणमूल छात्र परिषद के स्थापना दिवस के अवसर पर यहां एक रैली को संबोधित करते हुये ममता ने कहा, ‘हत्या की राजनीति का सहारा लेने के बावजूद पूर्व में माओवादियों के गढ़ रहे जंगलमहल में बीजेपी केवल कुछ सीटें ही जीत पाई।

राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लेकर भी ममता ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। सीएम ने कहा कि उनकी सरकार किसी भी परिस्थिति में इसकी अनुमति नहीं देगी। उन्होंने कहा, ‘हम बंगाल में एनआरसी की अनुमति नहीं देंगे। वे (भाजपा नेता) हमें चुनौती दे रहे हैं। अगर हमें चुनौती दिया जाएगा, तो हम इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे।’

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगर एक नागरिक को यहां गलत तरीके से विदेशी बताया जाता है तो वह उसे बर्दाश्त नहीं करेंगी। उन्होंने कहा, ‘हम बंगाल टाइगर्स हैं। अगर एक भारतीय नागरिक को विदेशी बताया जाता है, तो हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’ ममता ने कहा कि धन और बाहुबल के अलावा बीजेपी विपक्षी नेताओं के खिलाफ केन्द्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है। सीएम ने कहा कि उनका उद्देश्य 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बाहर करना है।