ओसामा को ‘ओसामा जी’ कहने वाले ये लोग स्वयं सोच लें कि देशभक्त कौन है और आतंकवादी कौन : शिवराज

पन्ना। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को कथित तौर पर ‘देशद्रोही’ कहे जाने का विवाद अभी शांत भी नहीं हुआ था कि चौहान ने दिग्विजय पर पुन: निशाना साधते हुए कहा कि बाटला एन्काउंटर में शहीद सिपाही पर टिप्पणी करने वाले और आतंकवादी ओसामा को ‘ओसामा जी’ कहने वाले ये लोग स्वयं सोच लें कि देशभक्त कौन है और आतंकवादी कौन है।

जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान यहां आये मुख्यमंत्री चौहान ने आज सुबह संवाददाताओं से कहा, ‘बाटला हाउस एन्काउंटर में शहीद महेशचन्द्र शर्मा पर टिप्पणी करने वाले और ओसामा बिन-लादेन को ‘ओसामा जी’ कहने वाले ये लोग स्वयं सोच लें कि कौन देशभक्त है और कौन आतंकवादी।’ उन्होंने कहा, ‘दिग्विजय सिंह गिरफ्तारी की बात करते हैं, लेकिन वह यह नहीं जानते कि हमें देश भक्तों के ऊपर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहिए।’ एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘दिग्विजय सिंह अगर गिरफ्तारी देना चाहते हैं तो उन पर कोई बंदिश नहीं है। हमने उनकी गिरफ्तारी के लिए कुछ भी नहीं कहा है।’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जो राजे महाराजे हैं, क्या वे किसी सामान्य परिवार के व्यक्ति पर कुछ भी टिप्पणी कर सकते हैं। मैं सामान्य कृषक परिवार का हॅू, मुख्यमंत्री भी हूं। यह लोग मेरे और मेरे परिवार के ऊपर टिप्पणियां करते हैं। मुझे इससे कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि प्रदेश की जनता सब देख रही है।’

चौहान ने कहा कि दिग्विजय ने अपने 10 सालों के शासन में प्रदेश को बदहाल कर दिया था। अब हमने उसे विकासशील और विकसित बनाया है, अब हम प्रदेश को समृद्ध बनाएंगे। उन्होंने कहा कि भगवा को हिन्दू आतंकवाद से जोड़ने वाले यह तो समझें कि भगवा हमारी पुरातन संस्कृति का प्रतीक है। इस पर टिप्पणी करना किसी को शोभा नहीं देता। मुख्यमंत्री ने पन्ना एवं दमोह में जनआशीर्वाद यात्रा के अभूतपूर्व स्वागत के लिए आमजन का आभार व्यक्त किया।  उन्होंने कहा कि राज्य शासन ने प्रदेश के चुनिंदा शहरों को मिनी सिटी स्मार्ट योजना में शामिल करने का प्रस्ताव बनाया है, जिसमें पन्ना को भी शामिल किया जाएगा। इसबीच, दिग्वजय सिंह, अपनी घोषणा के अनुसार भोपाल में आज दोपहर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पैदल रैली के रूप में टीटी नगर पुलिस थाने में पेश होने के लिये रवाना हो गये। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने उन्हें कांग्रेस का झंडा देकर पुलिस थाने की ओर रवाना किया।

गौरतलब है कि दिग्विजय ने मुख्यमंत्री चौहान द्वारा उन्हें कथित तौर पर देशद्रोही कहे जाने पर 21 जुलाई को मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था। इसमें चौहान से देशद्रोह के साक्ष्य पेश करने की मांग करते हुए 26 जुलाई को स्वयं (दिग्वियज) पुलिस थाने में गिरफ्तार कराने की बात कही थी अन्यथा इस मामले में सबूत नहीं देने पर मुख्यमंत्री से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की बात कही थी।