भारतीय हॉकी : खाने में निकल रहे कीड़े-मकोड़े

नई दिल्ली। भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने बेंगलूरू के साई केंद्र में घटिया स्तर का खाना मिलने और सफाई नहीं होने की शिकायत हॉकी इंडिया से की है। भारतीय हॉकी टीम चैंपियंस ट्रॉफी की तैयारी के लिए वहां अभ्यास कर रही है। भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष और हॉकी इंडिया के पूर्व अध्यक्ष तथा अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के मौजूदा अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने शिकायत मिलने के बाद खेल मंत्रालय को पत्र लिखा है। हरेंद्र ने हॉकी इंडिया के आला अधिकारियों को लिखे पत्र में कहा, ‘‘मैं आपके ध्यानार्थ लाना चाहूंगा कि बेंगलूरू में साई सेंटर में खाना बहुत ही खराब मिल रहा है जिसमें जरूरत से ज्यादा तेल और फैट है। हड्डियों में मीट नहीं है। खाने में कीड़े, मकोड़े और बाल निकल रहे हैं। मैं आपको बताना चाहता हूं कि यहां साफ सफाई का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘‘किचन में जो बर्तन इस्तेमाल हो रहे हैं, वे भी ठीक नहीं है। हम चैंपियंस ट्रॉफी, एशियाई खेल और विश्व कप की तैयारी कर रहे हैं। इनके लिए खिलाड़ियों को ऐसी खुराक चाहिए जिसमें सारे पोषक तत्व हों।’उन्होंने कहा, ‘‘हमने 48 खिलाड़ियों की खून की जांच कराई है और कुछ खिलाड़ियों के खून में नमूने में खान पान संबंधी कमी पाई गई है जिससे वे इस स्तर पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं।’ मुख्य कोच ने आगे लिखा कि खाने का स्तर काफी खराब है जबकि खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले इस संबंध में निर्देश भी दिए थे। हरेंद्र ने लिखा, ‘‘कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले एक शिविर में माननीय खेलमंत्री आए थे और उन्होंने अधिकारियों को 48 घंटे के भीतर इन समस्याओं के निराकरण के लिए कहा था लेकिन ऐसा हुआ नहीं।’आईओए ने हॉकी इंडिया से सूचना मिलने के बाद साइ को इस मामले को देखने के लिए कहा है।

आईओए अध्यक्ष बत्रा ने साइ की महानिदेशक नीलम कपूर को पत्र लिखकर मामले को गंभीरता से लेने के लिए कहा है। बत्रा ने लिखा, ‘‘माननीय मंत्री ने कुछ महीने पहले बेंगलूरू के साई सेंटर का दौरा किया था और उन्हें मामले के बारे में पता है। मैं साई से अनुरोध करता हूं कि खिलाड़ियों के स्वास्य और प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए साई सेंटर बेंगलूरू में खाने के स्तर और सफाई का ध्यान रखा जाए।’ भारतीय टीम नीदरलैंड के ब्रेडा में 23 जून से एक जुलाई के बीच चैंपियंस ट्रॉफी खेलेगी। (भाषा)