कलबुर्गी रैली : देश के हर कोने से कांग्रेस पार्टी की हो रही है  छुट्टी : मोदी

कलबुर्गी। कर्नाटक चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस ने राज्य में अपना चुनाव प्रचार तेज कर दिया है। इस बीच पीएम मोदी ने गुरुवार को कलबुर्गी में चुनावी सभा को संबोधित किया। मोदी ने कन्नड़ भाषा में अपने भाषण की शुरुआत की। इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने कांग्रेस पार्टी पर जवान और किसान का अपमान करने का आरोप लगाया।

पीएम मोदी ने कहा कि क्या कारण है कि देश के हर कोने से कांग्रेस पार्टी की छुट्टी हो रही है। पिछले चार साल में देश के हर कोने से कांग्रेस को हार का मुंह देखना पड़ा। लोगों में बीजेपी के प्रति विश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि चुनाव आते-जाते हैं, आरोप-प्रत्यारोप भी होते हैं, लेकिन सरकार बदलने का ऐसा उत्साह और संकल्प बहुत कम दिखाई देता है, जो आज कर्नाटक में दिख रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का कलबुर्गी के साथ गहरा संबंध रहा है। सरदार पटेल ने ही यहां के नवाब को भारत के साथ आने पर मजबूर किया था, लेकिन कांग्रेस पार्टी सरदार पटेल का नाम सुनते ही परेशान हो जाती है। मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस के लिए सरदार के प्रति तिरस्कार कोई नई बात नहीं है।’

देश के शहीदों और देश भक्तों के प्रति तिरस्कार का भाव रखना कांग्रेस पार्टी के स्वभाव में आ गया है। मोदी ने कहा, ‘ऐसा इसलिए किया जाता है, ताकि एक परिवार की गाड़ी आराम से चल सके।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक से आतंकियों के छक्के छुड़ा दिए, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने बेशर्मी के साथ सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग लिए।’ मोदी ने कहा कि कांग्रेस के सबसे बड़े नेता भरी सभा में वंदेमातरम का अपमान कर सकते हैं तो उनसे देश के प्रति सकारात्मक भाव होना मुश्किल है। 1948 में कर्नाटक के रहने वाले जनरल थिमैया के नेतृत्व में सेना ने पाकिस्तान से युद्ध जीता, लेकिन इसके लिए जनरल थिमैया का सम्मान तो दूर, बल्कि नेहरू ने उन्हें हटाकर उनका अपमान किया था। मोदी ने कहा, ‘हमारे वर्तमान सेनानायक को कांग्रेस के एक नेता ने गुंडा तक कह दिया था, लेकिन कांग्रेस ने उन पर कार्रवाई करने की जगह उनका सम्मान किया।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘जय जवान-जय किसान का नारा देश की सेना और किसान को ताकत देता रहा है। कांग्रेस ने जवानों के साथ किसानों का भी अपमान किया।’ पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पूछा, ‘कांग्रेस पार्टी के पास इस बात का क्या जवाब है कि उन्होंने स्वामीनाथन कमिटी की सिफारिशों को अलमारी में बंद कर दिया।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘तुअर दाल के मामले में कलबुर्गी अब एक ब्रैंड बन चुका है। इस क्षेत्र को तुअर दाल का खलिहान कहा जाता है। पूरे कर्नाटक में जितनी दाल होती है, उसकी आधी सिर्फ कलबुर्गी में होती है।’ मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार दाल उत्पादन पर रोडमैप बनाकर आगे बढ़ रही है, लेकिन राज्य सरकार किसानों के प्रति रत्ती भर भी संवेदनशील नहीं है। मोदी ने कहा, ‘येदियुरप्पा के नेतृत्व में सरकार बनेगी तो किसानों को लागत का डेढ़ गुना एमएसपी दिया जाएगा।’

पीएम ने अपनी रैली में लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लकार्जुन खड़गे पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दलितों की बात करने वाली कांग्रेस पार्टी ने खड़गे के नाम पर वोट मांगा, लेकिन वोट मिलने के बाद खड़गे को वह जगह नहीं दी। मोदी ने रैली में पूछा, ‘क्या आप जानते हैं कि मल्लिकार्जुन खड़गे की सम्पत्ति कितनी है?’ मोदी ने कहा कि इस पार्टी में सिर्फ कुछ परिवारों की ही सम्पत्ति बढ़ती है।

मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कर्नाटक में दलितों पर अत्याचार की घटनाएं किसी से छिपी नहीं हैं। बीदर में दलित बेटी के साथ जो अत्याचार हुआ, वह स्वीकार्य नहीं है। मोदी ने कहा, ‘मैं दिल्ली में कैंडल मार्च निकालने वालों से पूछना चाहता हूं कि जब बीदर में दलित बेटी के साथ अत्याचार हुआ तो आपकी कैंडल लाइट कहां थी।’