अवैध प्रवासियों पर कसेगा अमेरिकी शिकंजा, कानून पर मुहर

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अवैध प्रवासियों को ‘पकड़ने और रिहा करने’ की परंपरा खत्म करने के लिए एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए हैं. बता दें कि इस परंपरा के तहत अमेरिका में आए अवैध प्रवासियों को उनकी गिरफ्तारी के तुरंत बाद रिहा कर दिया जाता है.
राष्ट्रपति ट्रंप ने इस दस्तावेज में रक्षामंत्री से उन सैन्य प्रतिष्ठानों की एक सूची उपलब्ध कराने को कहा है कि जिनका इस्तेमाल करने से अवैध प्रवासियों को हिरासत में रखा जा सकता है.

व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को एक बयान में ‘पकड़ने और रिहा करने’ की नीति को एक ‘खतरनाक परंपरा’ बताया है. जिसके तहत देश में अमेरिकी आव्रजन कानूनों का उल्लंघन करने वाले प्रवासियों को रिहा कर दिया जाता है.

उन्होंने बयान में कहा, ‘अमेरिकी नागरिकों की रक्षा एवं सुरक्षा राष्ट्रपति की सर्वोच्च प्राथमिकता है. इसलिए वह देश की रक्षा के अपने वादे को पूरा करेंगे तथा अमेरिकी कानूनों का सम्मान सुनिश्चित करेंगे.’
इसके अनुसार, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति ने कांग्रेस के डेमोक्रेट सदस्यों से आह्वान किया कि वे सीमा सुरक्षा का विरोध खत्म करें और अमेरिका की रक्षा एवं सुरक्षा के लिए अहम उपायों में अड़चन डालना बंद करें.’
संबंधित दस्तावेज में ट्रंप ने कहा कि मानव तस्करी, मादक पदार्थों एवं अन्य प्रतिबंधित सामग्री की तस्करी और गिरोहों के सदस्यों तथा अन्य अपराधियों का अमेरिका की सीमा में घुसना देश की राष्ट्रीय सुरक्षा एवं अमेरिकी नागरिकों  की रक्षा के लिए खतरा हैं.