विस चुनाव: 4 बजे तक नगालैंड में 68%, मेघालय में 67% वोटिंग

मेघालय. नगालैंड और त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के नतीजों का एलान एकसाथ 3 मार्च को होगा।विधानसभा चुनाव: 4 बजे तक नगालैंड में 68%, मेघालय में 67% वोटिंग: हिंसा में एक की मौत, national news in hindi, national news+9और स्लाइड देखेंमंगलवार को मेघालय-नगालैंड में 59-59 सीटों पर वोटिंग की जा रही है।कोहिमा/शिलॉन्ग. मेघालय-नगालैंड में मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान हुआ। नगालैंड में शाम 4 बजे तक 68% और मेघालय में 67% वोटिंग हुई। इस दौरान नगालैंड के झुनहेबोतो जिले के एक पोलिंग स्टेशन पर हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई। दोनों राज्यों में कुल 599 कैंडिडेट मैदान में हैं। मेघालय में बीजेपी 25 साल में पहली बार 47 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। राज्य में कांग्रेस-बीजेपी और एनपीपी में त्रिकोणीय मुकाबला है। वहीं, नगालैंड में एनपीएफ का सामना बीजेपी-एनडीपीपी गठबंधन से है। यहां अभी एनपीएफ सत्ता में है। बता दें कि नगालैंड और त्रिपुरा के नतीजे मेघालय के रिजल्ट के साथ 3 मार्च को आएंगे।

– झुनहेबोतो जिले के अकुलूटो में पोलिंग बूथ के पास नागा पीपुल फ्रंट (एनपीपी) और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोगेसिव पार्टी (एनडीपीपी) कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। इसमें 1 की मौत हो गई। वहीं, दो लोग जख्मी हो गए।
दो सीटों पर मतदान क्यों नहीं?
– वैसे दोनों राज्यों में 60-60 सीटें हैं, लेकिन इस बार 59-59 सीटों पर वोटिंग हुई है।
– मेघालय की विलियमनगर सीट से एनसीपी कैंडिडेट जेएन संगमा की 18 फरवरी को आईईडी ब्लास्ट में मौत हो गई थी। इस वजह से वहां वोटिंग टाल दी गई। – वहीं, नगालैंड की नॉर्दर्न अंगामी-2 सीट पर एनडीपीपी चीफ नेफ्यू रियो वोटिंग से पहले ही निर्विरोध चुनाव जीत गए हैं। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उनके विरोध में खड़े नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) के उम्मीदवार ने अपना नॉमिनेशन वापस ले लिया।
दोनों राज्यों में कितने वोटर्स, कितने कैंडिडेट्स?
राज्य मेघालय नगालैंडवोटर्स 18.4 लाख 11.70 लाखपोलिंग स्टेशंस 3083 2156कैंडिडेट्स 372 227सीटें 59 60 (एक पर निर्विरोध चुनाव)दोनों राज्यों में पिछली बार किसे कितनी सीटें मिलीं?

पार्टी सीट वोट शेयरएनपीएफ 38 47.2%कांग्रेस 8 25%एनसीपी 4 6.1%बीजेपी 1 1.8%निर्दलीय 8 17.8%अन्य 1 2.1%मेघालय में 2013 की स्थिति​
पार्टी सीट वोट शेयरकांग्रेस 29 34.8%यूडीपी 8 17.1%एचएसपीडीपी 4 4.2%एनसीपी 2 1.8%निर्दलीय 13 27.7%अन्य 4 14.4%# मेघालयपहली बार बीजेपी और कांग्रेस में टक्कर- मेघालय में पहली बार मुख्य मुकाबला बीजेपी-कांग्रेस के बीच है। अभी यहां कांग्रेस सत्ता में है और मुकुल संगमा सीएम हैं। – मेघालय में बीजेपी 1993 से विधानसभा चुनाव लड़ रही है। राज्य में हुए पिछले 5 चुनावों में बीजेपी ने पहली बार सबसे ज्यादा 47 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं।- बीते 5 चुनावों में से सिर्फ 3 बार बीजेपी का खाता खुला है। अब तक विधानसभा चुनाव लड़े 80% बीजेपी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो चुकी है। – बीजेपी ने 2003 में सबसे ज्यादा 28 सीटों पर चुनाव लड़ा था और दो सीटें जीती थीं। चुनाव से पहले बीजेपी में 5 विधायक शामिल हुए हैं।- 2013 में बीजेपी ने 13 सीटों पर चुनाव लड़ा था। सभी सीटों पर उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई थी। पिछले चुनाव में बीजेपी को 2 सीटें मिली थीं। – राज्य में हर चुनाव में निर्दलीय बड़ी संख्या में जीतते हैं। पिछली बार 13 जीते थे। 27% वोट उन्हें मिले थे। इस बार 84 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में हैं।
कौन हैं सीएम कैंडिडेट?- सीएम मुकुल संगमा ने कांग्रेस को सत्ता में बनाए रखने के लिए पूरी ताकत लगा दी है। वहीं, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पीए संगमा के बेटे कोनार्ड संगमा के नेतृत्व में एनपीपी मुकुल के सामने बड़ी चुनौती बनकर उभरी है। – मुकुल और कोनार्ड दोनों ही गारो हिल्स इलाके से आते हैं। कोनार्ड तुरा से सांसद हैं। कोनार्ड खुद चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। पर बहन अगाथा और भाई जेम्स मैदान में हैं। सीएम मुकुल के परिवार से 2 अन्य सदस्य भी चुनावी मैदान में हैं। मुकुल अम्पाती और पत्नी डिक्कांची महेंद्रगंज से मैदान में है।
किस पार्टी के कितने कैंडिडेट हैं?- इस बार मेघालय में 60 सीटों पर कुल 372 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 32 महिला हैं। राज्य में करीब 75% वोटर ईसाई समुदाय के हैं।- बीजेपी 47 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। बाकी की 13 सीटें क्षेत्रीय दलों को दे रखी हैं। वहीं, कांग्रेस 59 और एनपीपी 57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।- राज्य में अभी कांग्रेस के 29 विधायक हैं। मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा लगातार 4 बार से विधायक हैं।
नगालैंडयहां बीजेपी ने बदला पाला- नगालैंड की 60 में से इस बार 59 सीटों पर चुनाव हैं। एनपीएफ के टीआर जेलियांग अभी सीएम हैं। उन्होंने बीजेपी के सपोर्ट से सरकार बनाई थी। लेकिन इस चुनाव से ठीक पहले बीजेपी ने एनपीएफ से 15 साल पुराना नाता तोड़कर एनडीपीपी से गठबंधन कर लिया।- एनडीपीपी 40 और बीजेपी 20 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस 18 और एनपीएफ 58 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस 15 साल से यहां सत्ता से बाहर है।
कौन हैं सीएम फेस?- दो बार सीएम रहे रियो हाल ही में एनपीएफ से एनडीपीपी में शामिल हुए थे। बीजेपी ने चुनाव से ठीक पहले एनडीपीपी से गठबंधन किया है। अगर रियो एनडीपीपी कैंडिडेट हैं तो माना जा रहा है कि वे सीएम फेस बन सकते हैं। वे तीन बार नगालैंड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।
54 साल में पहली बार सबसे ज्यादा 5 महिलाएं मैदान में- नगालैंड में 12 विधानसभा चुनाव हुए हैं, लेकिन अाज तक एक भी महिला विधायक नहीं बनी है। इस बार 227 उम्मीदवारों में 5 महिला हैं। 54 साल में पहली बार सबसे ज्यादा महिलाएं मैदान में हैं। कुल 11.91 लाख वोटर हैं।- नोकसेन से चुनाव लड़ रही एनपीपी उम्मीदवार मायांगपुला चांग कहती हैं कि वो चुनाव जीतने वाली पहली महिला बनेंगी। – चिजामी से खड़ी रेखा रोज डूकरुने कहतीं हैं कि लोग मुझे जिताएंगे। एनडीपीपी उम्मीदवार कोनयाक कहती हैं कि इस बार इतिहास बनेगा। – डिमापुर-3 सीट से एनपीपी उम्मीदवार क्रेनू और त्वेंगशांग सतर-2 सीट से भाजपा उम्मीदवार राखीला कहती हैं कि वे पुरुषों से ज्यादा काम करके दिखाएंगी।