रास में हंगामा, रेणुका की हंसी पर दिये बयान पर माफी मांगें पीएम मोदी

नई दिल्ली। पीएम मोदी द्वारा राज्यसभा में बुधवार को रेणुका चौधरी की हंसी पर दिए गए रामायण बयान का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस ने इस बयान पर बृहस्पतिवार को राज्यसभा में जबर्दस्त हंगामा किया और पीएम मोदी से इस बयान पर माफी की मांग कर रही है। राज्यसभा में हंगामे के कारण सदन की कायर्वाही 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। विपक्ष के महिला सांसदों ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से मिलकर किरन रिजिजू को शूर्पनखा के विडियो शेयर को लेकर विशेषाधिकार हनन का नोटिस भी दिया।
चौधरी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मोदी सरकार के मंत्री किरन रिजिजू ने जो विडियो पोस्ट किया है, वह बेहद आपत्तिजनक है। ये लोग बेटी बचाओ, महिलाओं के सम्मान की बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। ये तरीका है इनके सम्मान का? मैं दो युवा बेटियों की मां हूं। मैं किसी की पत्नी हूं और उन्होंने मेरी तुलना शूर्पनखा राक्षसी से की है। यह बेहद शमर्नाक है।’
गौरलतब है कि बुधवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान पीएम मोदी का कांग्रेस नेता रेणुका पर दिए गए इस बयान ने सियासी गर्मी को और बढ़ा दिया है। रेणुका पीएम के इस बयान से भड़क गईं और इसे निंदनीय बता डाला। पीएम मोदी ने बुधवार को संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। पीएम के भाषण के दौरान दोनों ही सदनों में कांग्रेस सदस्यों ने जमकर नारेबाजी की। जब पीएम राज्यसभा में अपनी बात रख रहे थे तब भी कांग्रेस नेता हंगामा करने की कोशिश कर रहे थे। इसी दौरान एक ऐसी घटना हुई जिसकी वजह से राज्यसभा में हंसी के ठहाके लगने लगे। दरअसल, राज्यसभा में जब पीएम मोदी भाषण दे रहे थे तब कांग्रेस की सीनियर नेता रेणुका चौधरी जोर-जोर से हंस रही थीं। रेणुका की इस हंसी से पीएम के भाषण में रुकावट आ रही थी।
इसपर मोदी ने वेंकैया नायडू से कहा, ‘सभापति जी मेरी आपसे विनती है रेणुकाजी को कुछ मत कहिए (चुप होने के लिए मत कहिए), रामायण सीरियल के बाद ऐसी हंसी सुनने का सौभाग्य आज जाकर मिला है।’ पीएम की इस बात को सुनकर बीजेपी और सहयोगी दलों के सभी सदस्य जोर-जोर से हंसने लगे और रेणुका चौधरी की हंसी बंद हो गई। इस तीखी टिप्पणी के बाद रेणुका कुछ कहती दिखाई दीं, लेकिन उनकी आवाज ठहाकों में सुनाई नहीं दी।
हालांकि रेणुका सदन में तो इस बयान पर कुछ नहीं बोल पाईं, लेकिन जब वह सदन के बाहर निकलीं तो पीएम पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘पीएम ने निजी हमला बोला है, वैसे भी आप उनसे और क्या उम्मीद कर सकते हैं। मैं इसका उत्तर देकर उतना गिरना नहीं चाहती हूं। किसी महिला के खिलाफ इस तरह का बयान निंदनीय है।’